Alone Shayari | 100+ Best Alone Shayari in Hindi with Image

दोस्तों आज हम आपको कुछ स्पेशल Alone Shayari पढ़ाने जा रहे जो आपको बहुत पसंद आएगी क्योंकि इन सभी Alone Shayari मे आपको अपने अकेलेपन को दूर करने वाले वो सभी गुण मिलेंगे जिसे पढ़ने के बाद आप कभी भी अपने आप को अकेले महसूस नहीं कर पाओगे। क्योंकि आज के समय मे बहुत से ऐसे लोग है जो अकेले रहते या फिर अकेले रहना पसंद करते लेकिन इस अकेलेपन से आपको न तो कुछ मिल है न ही कुछ मिलेगा।

इस लिए आप बस इन सभी Alone Shayari को पढिए जिसके बाद आप अपने अंदर के खालीपन वाले मन को बदल सकोगे और फिर जब आप यह Alone Hindi Shayari पढ़ोगे तो आप आसानी से अपने खालीपन वाले दिमाग को बदल कर एक अच्छे से नॉर्मल दिमाग मे बदल पाओगे जो एक दूसरे से अपनी फीलिंग को शेयर करे और अपने जीवन मे हमेशा खुश रहे।

तो आइए सुरू करिए पढ़ना इन सभी Alone Shayari को फिर इन सभी Alone SMS को आप अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करिए जिसके बाद आपके दोस्त भी अपने अकेलेपन मे रहने वाली आदत से छुटकारा प सके।

 

Alone Shayari in Hindi

अब आइए आपको हम यह Alone Shayari in Hindi पढ़ाने जा रहे जो आपको बहुत पसंद आएगी आप बस इन सभी Alone Shayari को पहले तो पढ़ो फिर इसको अपने दोस्तों मे शेयर भी करो।

 

मुझे तुझसे प्यार बहुत है,

पर हम दोनो के बीच दरार बहुत है,

यूँ तो तुझे भुलाना मुस्किल है,

पर तुझे भुलाने को मेरे यार बहुत हैं.,

 

जिसे उसका प्यार मिला वो तो ठीक है,

पर जिसे नही मिला उसका क्या,

क्या जिये मर जाना बेहतर है,

जिने से अब फायदा क्या.,

 

तेरे जाने के बाद मेरी यारी,

हुई रात के उन तारों से,

पर किस्मत तो देखो साथ छोड़,

दिया उनहोने भी सुबह होते ही.,

 

अब अकेले जिन्दगी की राहों में,

तेरा कोइ काम नही,

खुद ही काट लेंगे गम ये जिन्दगी,

अब तेरा इस दिल में कोइ काम नही.,

 

 उसे पाना उसके लिये रोना,

उसके दूर जाने का गम,

गर यही मोकब्बत है तो,

हम तन्हा ही ठीक हैं.,

 

Alone Shayari

 

भले मुस्कुरा देते है, दुनिया के सामने,

पर अंदर से बहुत अकेले, पड़ गये जिन्दगी में.,

 

कहा था उन्होंने कि तुम ‪‎अलग हो सबसे, ‪
हमें तो लगा था सिर्फ कहा है पर उन्होंने तो कर भी दिया.,

 

भीड़ तन्हाइयों का मेला है.
यहाँ हर आदमी अकेला है.

सिर्फ दर्द ही मिला मुझे तेरे रहने से,
सुकून मिलता है मुझे अब अकेले रहने से.,

 

जहां महफ़िल सजी हो,
वह मेला होता है,
जिसका दिल टूटा हो,
वो तन्हा अकेला होता है.,

 

Khamoshi Shayari

 

दुनिया की भीड़ में इतने तन्हा हो गए हैं हम,
अब तो कमबख्त परछाइयाँ भी साथ नहीं देती.,

 

मुझको मेरे अकेलेपन से अब शिकायत नहीं है,
मैं पत्थर हूँ मुझे खुद से भी मोहब्बत नहीं है.,

 

अकेला हूँ या नहीं इसमें मुझे शंका है,
तुम ही बता दो ना भ्रम मेरे मन का है.,

 

मुसाफ़िर ही मुसाफ़िर हर तरफ़ हैं,
मगर हर शख़्स तन्हा जा रहा है.,

 

न जाने क्यों लोग एक गलती के पीछे,
सब अच्छाइयां भूल जाते है.,

 

Alone Shayari

 

अपने होने का कुछ एहसास न होने से हुआ,
ख़ुद से मिलना मेरा इक शख़्स के खोने से हुआ.,

 

एक तेरे ना होने से बदल जाता है सब कुछ,
कल धूप भी दीवार पे पूरी नहीं उतरी.,

 

बहुत ज्यादा जुल्म करती हैं तुम्हारी यादे,
सो जाऊ तो जगा देती हैं, उठ जाऊ तो रुला देती हैं.,

 

तेरे साथ से बेहतर कोई रास्ता नहीं,
तुझसे दूर होकर मैं तनहा ही सही.,

 

अजीब सी वेताबी रहती है तेरे बिना,
रह भी लेते हैं और रहा भी नहीं जाता.,

 

Smile Shayari

 

तन्हाइओं के आलम की ना बात करो दोस्त,
वरना बन उठेगा जाम और बदनाम शराब होगी.,

 

तुमने समझा ही नहीं और ना समझना चाहा,
हम चाहते ही क्या थे तुमसे तुम्हारे सिवा.,

 

रोते हैं तन्हा देख कर मुझको वो रास्ते,
जिन पे तेरे बगैर मैं गुजरा कभी न था.,

 

यूँ तो हर रंग का मौसम मुझसे वाकिफ है मगर,
रात की तन्हाई मुझे कुछ अलग ही जानती है.,

 

कुछ तो तन्हाई की रातों में सहारा होता,
तुम न होते न सही ज़िक्र तुम्हारा होता.,

 

Alone Shayari

 

तन्हाई रही साथ ता-जिंदगी मेरे,
शिकवा नहीं कि कोई साथ न रहा.,

 

मत तोल मोहब्बत मेरी अपनी दिल्लगी से,
चाहत देखकर मेरी अक्सर तराज़ू टूट जाते हैं.,

 

तुम्हारे बगैर ये वक्त ये दिन और ये रात,
गुजर तो जाते हैं मगर गुजारे नहीं जाते.,

 

अजब पहेलियाँ हैं हाथों की लकीरों में,
सफ़र ही सफ़र लिखा हैं हमसफ़र कोई नहीं.,

 

मैं सोते सोते कई बार चौंक चौंक पड़ा,
तमाम रात तेरे पहलुओं से आँच आई.,

 

Feeling Alone Shayari in Hindi

अब दोस्तों आइए आपको हम यह Feeling Alone Shayari in Hindi पढ़ाने जा रहे जो आपको और भी अधिक पसंद आएगा तो आइए आपके अकेलेपन को इन Alone sms से दूर करिए।

 

अब जो मेरे नहीं हो सके हो तो कुछ ऐसा कर दो,
मैं जैसा पहले था मुझे वैसा कर दो.,

 

तुम से बिछड़ के कुछ यूँ वक़्त गुज़ारा,
कभी ज़िंदगी को तरसे कभी मौत को पुकारा.,

 

कभी ख़ुद पे कभी हालात पे रोना आया,
बात निकली तो हर इक बात पे रोना आया.,

 

हम जैसे तन्हा लोगों का
अब रोना क्या मुसकाना क्या,
जब चाहने वाला कोई न हो,
तो जीना क्या मर जाना क्या.,

 

किसी को मोहब्बत की सच्चाई मार डालेगी,
किसी को प्यार की गहराई मार डालेगी,
करके मोहब्बत कोई नहीं बच पायेगा,
जो बच गया उसे भी तन्हाई मार डालेगी.,

 

Alone Shayari

 

तुझसे बिछड़ कर अकेलेपन की हद कर दी,

तेरे बाद जितनी भी मोहब्बतें आई रद कर दी.,

 

अकेलापन कहता है कोई महबूब बनाया जाए,

जिम्मेदारियां कहती हैं वक़्त बर्बाद बहुत होगा.,

 

जब थक जाओ दुनियाँ की महफिलों से तुम,

आवाज देना हम अक्सर अकेले ही रहते हैं.,

 

जो अकेला रहना चाहता उसे अकेला छोड़ दो,

जो आपको जानते ही नहीं उन्हें क्यों जानना चाहते हो.,

 

महफ़िल में आँख मिलाने से कतराते हैं,

मगर अकेले में हमारी तस्वीर निहारते हैं.,

 

अब हमें छोड़कर ये ना पूछो हमारा हाल क्या है,

हम अकेले कल भी कमाल थे आज भी बेमिसाल हैं.,

 

देखना अकेले में होगी उनको हमारी कदर,

अभी तो बहुत लोग हैं उनके पास दिल लगाने के लिए.,

 

बात करो रूठे यारों से सन्नाटे से डर जाते हैं,

इश्क़ अकेला जी सकता है, दोस्त अकेले मर जाते हैं.,

 

मत करना इश्क बहुत झमेले हैं,

हंसते तो साथ है मगर रोते अकेले हैं.,

 

अकेले महसूस करो ख़ुद को तो मुझसे बात करना,

फ़िर भी मन ना लगे तो मुझसे मुलाक़ात करना.,

 

Alone Shayari

 

दोस्ती करने वालो की कमी नहीं है दुनिया में,

अकाल तो निभाने वालो का पड़ा है साहब.,

 

बात करो रूठे यारों से सन्नाटे से डर जाते हैं,

इश्क़ अकेला जी सकता है दोस्त अकेले मर जाते हैं.,

 

सहारे ढूढ़ने की आदत नही हमारी,

हम अकेले पूरी महफ़िल के बराबर.,

 

ए वक्त में तुझसे उम्र में बहुत ही छोटा हूँ,

मैं एक जोकर हुआ तो क्या हूआ मैं भी अकेले में रोता हूँ.,

 

वफ़ा इख़्तियार है तो अक़्ल का काम न लें,

अग़र इश्क़ है जुनूँ तो शक़्ल का काम न लें.,

 

कितनी अजीब है इस शहर की तन्हाई भी,
हजारों लोग हैं मगर कोई उस जैसा नहीं है.,

 

एक तेरे ना होने से बदल जाता है सब कुछ
कल धूप भी दीवार पे पूरी नहीं उतरी.,

 

कभी जब गौर से देखोगे तो इतना जान जाओगे,
कि तुम्हारे बिन हर लम्हा हमारी जान लेता है.,

 

कुछ कर गुजरने की चाह में कहाँ-कहाँ से गुजरे,
अकेले ही नजर आये हम जहाँ-जहाँ से गुजरे.,

 

जब से देखा है चाँद को तन्हा,
तुम से भी कोई शिकायत ना रही.,

 

Alone Shayari

 

बहुत सोचा बहुत समझा,
बहुत ही देर तक परखा,
कि तन्हा हो के जी लेना,
मोहब्बत से तो बेहतर है.,

 

कहने लगी है अब तो मेरी तन्हाई भी मुझसे,
मुझसे कर लो मोहब्बत मैं तो बेवफा भी नहीं.,

 

कुदरत के इन हसीन नजारों का हम क्या करें,
तुम साथ नहीं तो इन चाँद सितारों का क्या करें.,

 

दुश्मनों ने जो दुश्मनी की है,
दोस्तों ने भी क्या कमी की है.,

 

मेरी लिखी किताब मेरे हाथो में देकर,
कहने लगे इसे पढा करो,
मोहब्बत करना सिख जाओगे.,

 

Alone Hindi Shayari

इसी के साथ आइए आप इन सभी Alone Hindi Shayari को भी पढिए जोकी आपको और भी अधिक पसंद आएगा और इन सभी Alone Shayari Hindi को पढ़ने के बाद आपको अकेलेपन से नफरत हो जाएगी।

 

पूछा था हाल उन्होंने बड़ी मुदद्तों के बाद,
कुछ गिर गया है आँख में कह कर हम रो पड़े.,

 

चाहते थे जिसको हम उसके दिल बदल गए,
समुंदर तो वाही था लेकिन साहिल बदल गए,
क़त्ल ऐसा हुवा हर बार किस्तों में मेरा,
कभी खंजर बदल गुए तो कभी कातिल बदल गए.,

 

हर शख्स मुझे ज़िन्दगी जीने का तरीका बताता है,
उन्हें कैसे समझाऊँ की एक खुवाब अधुरा है मेरा,
वरना जीना तो मुझे भी आता है.,

 

दर्द का एहसास जानना है तो पियार कर के देखो,
अपनी आँखों में किसी को उतार कर देखो,
चोट उनको लगेगी आंसू तुम्हें आ जायेंगे,
ये एहसास जानना हो तो दिल हार कर देखो.,

 

मत रहो दूर हमसे इतना के अपने फैसले पर अफ़सोस हो जाये,
कल को शायद ऐसी मुलाकात हो हमारी,
के आप हमसे लिपटकर रोये और हम खामोश हो जाये.,

 

 

किया कहें बिन तेरे ये ज़िन्दगी है कैसी,
दिल को जलती ये बेबसी है कैसी,
ना कह पाते है ना सह पाते है,
ना जाने तकदीर मैं लिखी ये आशिकी है कैसी.,

 

दुनिया आज भी मेरी दीवानी है,

और एक हम है कि,

उनके इंतज़ार में तन्हा बैठे रहते है.,

 

कुछ तो तन्हाई की रातों में सहारा होता,
तुम न होते न सही ज़िक्र तुम्हारा होता.,

 

तेरे बगैर इस मौसम में वो मजा कहाँ,
काँटों की तरह चुभती है बारिश की बूँदें.,

 

ए ज़िन्दगी एक बार तू नज़दीक आ तन्हा हूँ मैं,
या दूर से फिर दे कोई सदा तन्हा हूँ मैं,
दुनिया की महफ़िल मैं कहीं मैं हूँ भी या नहीं,
एक उम्र से इस सोच में डूबा हुआ हूँ मैं.,

 

उसकी आरज़ू अब खो गयी है,
खामोशियों की आदत सी हो गयी है,
न शिकवा रहा न शिकायत किसी से,
बस एक मोहब्बत है,
जो इन तन्हाइयों से हो गई है.,

 

भूल सा गया हैं बो मुझे,

समज नहीं आ रहा की हम आम हो गए

उनके लिए या कोई खास बन गया है.,

 

मुझको मेरे अकेलेपन से अब शिकायत नहीं है,

मैं पत्थर हूँ मुझे खुद से भी मुहब्बत नहीं है.,

 

तेरी मुहब्बत पर मेरा हक तो नही पर दिल चाहता है,

आखरी सास तक तेरा इंतजार करू.,

 

शायद बहुत दूर तक निकल गए हैं हम,

इसलिए अब तेरे ख्यालों में भी नहीं आते हैं हम.,

 

 

बहुत ज्यादा जुल्म करती हैं तुम्हारी यादे,

सो जाऊ तो जगा देती हैं, उठ जाऊ तो रुला देती हैं.,

 

आज इतना अकेला महसूस किया खुद को,

जैसे लोग दफना  कर चले गए हो.,

 

माना की में बुरा हु सो बुरा होता गया मेरे साथ,

पर तुमतो अच्छी थी ना तुमतो कुछ अच्छा कर जाती मेरे साथ.,

 

बिखरे अरमान भीगी पलकें और ये तन्हाई,

कहूँ कैसे कि मिला मोहब्बत में कुछ भी नहीं.,

 

कहा था उन्होंने कि तुम ‪‎अलग हो सबसे, ‪

हमें तो लगा था सिर्फ कहा है पर उन्होंने तो कर भी दिया.,

 

वो सिलसिले वो शौक वो ग़ुरबत न रही,

फिर यूँ हुआ के दर्द में सिद्दत न रही,

अपनी जिंदगी में हो गये मशरूफ वो इतना,

कि हमको याद करने कि फुरसत न रही.,

 

कभी ना गिरना कमाल नहीं,

बल्कि गिरकर संभल जाना कमाल है,

किसी को पा लेना मोहब्बत नहीं,

बल्कि किसी के दिल में जगह बनाना कमाल है.,

 

अगर जिंदगी में जुदाई न होती,

तो कभी किसी की याद न आई होती,

अगर साथ गुजरा होता हर लम्हा तो,

शायद रिश्तो में इतनी गहराई न होती.,

 

हर वक़्त का हँसना तुझे बर्बाद ना कर दे,
​तन्हाई के लम्हों में कभी रो भी लिया कर.,

 

तन्हाईयाँ कुछ इस तरह से डसने लगी मुझे,
मैं आज अपने पैरों की आहट से डर गया.,

 

 

चलते-चलते अकेले अब थक गए हम,
जो मंज़िल को जाये वो डगर चाहिए,
तन्हाई का बोझ अब और उठता नहीं,
अब हमको भी एक हमसफ़र चाहिए.,

 

मैं भी तनहा हूँ और तुम भी तन्हा,
वक़्त कुछ साथ गुजारा जाए.,

 

आज की रात जो मेरी तरह तन्हा है,
मैं किसी तरह गुजारूँगा चला जाऊंगा,
तुम परेशाँ न हो बाब-ए-करम-वा न करो,
और कुछ देर पुकारूंगा चला जाऊंगा.,

 

रोते हैं तन्हा देख कर मुझको वो रास्ते,
जिन पे तेरे बगैर मैं गुजरा कभी न था.,

 

तेरे वजूद की खुशबु बसी है साँसों में,
ये और बात है नजरों से दूर रहते हो.,

 

ना ढूंढ़ मेरा किरदार दुनियाँ की भीड़ में,
वफादार तो हमेशा तन्हा ही मिलते है.,

 

ज़िन्दगी के ज़हर को यूँ पी रहे हैं,
तेरे प्यार के बिना यूँ ज़िन्दगी जी रहे हैं,
अकेलेपन से तो अब डर नहीं लगता हमें,
तेरे जाने के बाद यूँ ही तन्हा जी रहे हैं.,

 

Conclusion

यही सभी Alone Shayari आप सभी को काफी पसंद आई होंगी अगर नहीं तो आप हमे कमेन्ट मे बताए हम अपने अगले पोस्ट व  Hindi Shayari मे कुछ अच्छा सुधार करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *