Beti Shayari – दोस्तों आप सभी ये तो जानते होंगे की जिस घर मे पहली पर किसी लड़की का जन्म होता तब घर के सभी सदस्य बहुत खुश हो जाते और भगवान से यही आराधना करने लगते की भगवान ने हमारे घर को रोशन करने के लिए एक लक्ष्मी को भेज है।

घर मे उपस्थित बेटी घर के सभी लोंग की लाड़ली होती जो सभी की खुशी के लिए हमेशा सबका साथ देती और अपने अपने माता पिता का नाम और ऊपर ले जाने के लिए समाज मे अकेली निकलती और सभी को हर फील्ड मे पिछड़ कर सबसे आगे अ जाती है।

लेकिन इस समज मे ऐसे बहुत से लोंग ऐसे भी उपस्थित है जो बेटियों को इस संसार मे आने ही नहीं देते तो आज हम उन सभी के लिए यह स्पेशल Beti Shayari लेकर आए है। भले ही कहने को यह एक Beti ki Shayari है लेकिन इसे जब आप पढ़ेंगे तो आपको पता चलेगा की असल मे लड़कियों का होना क्यों अवस्यक है।

तो आइए इस तरह की विचार धारा रखने वाले लोगों को असल मे यह बताया जाए की बेटी का होना श्राप नहीं बल्कि आशीर्वाद है। क्योंकि यह तो सक्षत्र लक्ष्मी का रूप है।

Beti Ki Shayari in Hindi

दोस्तों अब हम आपको कुछ ऐसी अच्छी Beti ki Shayari in Hindi मे आपके लिए लाए जिसे पढ़ने के बाद आप यह प्रतीत होगा की आपके घर मे जो लड़की उपस्थित है वो कोई और नहीं बल्कि इस घर के लक्ष्मी है जो आपके भाग्य को बदलने के लिए आपके घर मे आई है। तो आइए सुरू से पढ़ते यह Beti Ki Shayari बिना किसी परेशानी।

 

लुटेरा है अगर आज़ाद तो अपमान सबका है,

लुटी है एक बेटी तो लुटा सम्मान सबका है,

बनो इंसान पहले छोड़ कर तुम बात मज़हब की,

लड़ो मिलकर दरिंदो से ये हिन्दोस्तान सबका हैं.,

 

ऐ-खुदा, मैं तेरा शुक्रिया बार-बार करती हूँ,

अपनी बिटिया से मैं बहुत प्यार करती हूँ,

रखना तूं उसे सलामत जब तक ये चाँद तारे हैं,

बस यही दुआ मैं तुझसे हज़ार बार करती हूँ.,

 

रोशन करेगा बेटा तो बस एक ही कुल को,

दो दो कुलों की लाज होती है बेटियाँ.,

 

तो फिर जाकर कहीँ माँ- बाप को कुछ चैन पड़ता है,

कि जब ससुराल से घर आ के बेटी मुस्कुराती है.,

 

मुस्कुराता देख बेटी को मैंने पूछ लिया,

कहने लगी पापा ने मुझको बेटा कहा है.,

 

beti shayari

 

हर परिवार के कुल को बढ़ाती है बेटियां,

फिर भी पैरों तले कुचल दी जाती है बेटियां.,

 

माँ-बाप के जीवन में ये दिन भी आता हैं,

जिगर का टुकड़ा ही एक दिन दूर हो जाता हैं.,

 

बेटी भार नही, है आधार,जीवन हैं उसका अधिकार,

शिक्षा हैं उसका हथियार बढ़ाओ कदम करो स्वीकार.,

 

सारे जहां की खुशियाँ मैं तुझ पर लुटा दूं,

जिस राह से तूं गुज़रे वहां फूल बिछा दूं,

होगी विदा तूं जब भी मेरे आँगन से बेटी,

ख्वाहिश है यही ज़मीं से लेकर पूरा आसमां सजा दूं.,

 

एक बेटी वह होती है जो आपके दिल को प्यार से और आपके दिन खुशी से भरती है.,

 

मेरे जीवन की सभी समस्याओं का सिर्फ एक सरल समाधान है, मेरी बेटी से गले मिलना.,

 

Rajput Shayari 

 

मैंने तुम्हें जीवन का उपहार नहीं दिया। जीवन ने मुझे तुम्हारा उपहार दिया है.,

 

मेरी बेटी मेरी परी है और वो मुझे दुनिया में अच्छाई की याद दिलाती है.,

 

बेटी वो छोटी लड़की है जो बड़ी होकर आपकी सबसे अच्छी दोस्त बनती है.,

 

एक बेटी वह है जिसके साथ आप हंसते हैं, सपने देखते हैं, और पूरे दिल से प्यार करते हैं.,

 

beti ki shayari in hindi

 

बेटी! वो भार नही किसी का संसार है,
उसके जीवन पर सिर्फ उसका अधिकार है,
शिक्षा उसका असली हथियार है,
बढ़ने दो उसके कदम यही ईश्वर को स्वीकार है.,

 

माँ ये जीवन तेरी ही खुदाई है,
कहने को तो मै हूँ पर मेरी हर सांस ये तेरी ही दवाई है,
कहने को तो मैं तेरी बेटी हूँ,
सच तो ये है माँ मैं तेरी ही परछाई हूं.,

 

बिन बिटिया के कैसे बसेगा घर-परिवार,
कैसे आएगी खुशियाँ कैसे बढेगा संसार,
गर्भ से लेकर यौवन तक उसने दर्द ही सहा है,
वह देवी की मूरत है उससे ही है ये संसार.,

 

किस्मत वाले है वो लोग जिन्हें बेटियां नसीब होती है,
ये सच है कि उन लोगों से माँ दुर्गा करीब होती है.,

 

लक्ष्मी का वरदान हैं बेटियां,
धरती माँ का सम्मान है बेटियां,
हलकी मुस्कान होती हैं बेटियां,
सच है कि मेहमान होती हैं बेटियां,
घर की पहचान बनाती हैं,
जिस घर से अनजान होती हैं बेटियां.,

 

Ramzan Shayari 

 

घर में रहते हुए ग़ैरों की तरह होती हैं,
बेटियाँ पान के पौधों की तरह होती हैं.,

 

उसकी मुस्कान मुझे मुस्कान देती है,
उसकी हंसी मुझे हंसी देती है,
उसका दिल शुद्ध और सच्चा है,
इन सबसे ऊपर मुझे गर्व है कि वह मेरी बेटी है.,

 

वो माँ-पिता की पंक्षी उड़कर बड़ी दूर चली जाती हैं,
माँ बाप की शाखाओं पर ये चिड़िया ही तो होती है,
जब बेटी पैदा होती है तो वो अपने साथ,
आशीर्वाद विजय और खुशियां लेकर आती है.,

 

चेहरे पर आती है एक अलग ही मुस्कान,
जब बेटी बढ़ाती है माता-पिता की शान,
अपनी मंजिल की ओर बढ़ने का उसे रहती चाह,
उससे ही बनती है माता-पिता की पहचान.,

 

बेटी अपनी माँ से बहुत प्यार करती है,
भले बेटी पिता पे जानिसार करती है,
बेटी दो परिवारों का ख्याल करती है,
वो बेटी है या फ़रिश्ता माँ खुदा से ये सवाल करती है.,

 

beti ki shayari

 

बेटी यह भगवान द्वारा निर्मित सबसे बेहतरीन रचना है,
जो पहले बेटी होती है फिर माँ बनती है.,

 

ज़रूरी नहीं रौशनी चिरगो से ही हो,
बेटिया भी घर में उजाला करती हैं.,

 

एक मीठी सी मुस्कान है बेटी,
ये सच है के मेहमान है बेटी,
उस घर की पहचान बनने वाली,
जिस घर से अनजान है बेटी.,

 

बेटी की मुस्कराहट माता पिता की,
रगों में खून का काम करती हैं.,

 

उड़ के एक रोज़ बड़ी दूर चली जाती हैं,
घर की शाखों पे ये चिडिओ की तरह होती हैं.,

 

Shayari on Beti Ki Vidai

दोस्तों अब आपको तो पता होगा की जो आपके घर की लक्ष्मी होती उसे एक दिन किसी दूसरे के घर तो जाना ही होता क्योंकि वो भी उसका असली घर होता है इस लिए आज हम आपको कुछ Shayari on Berti ki Vidai सुनाएंगे ये सभी Beti ki Shayari आप जरूर पढ़ना।

 

घर में रहते हुए ग़ैरों की तरह होती हैं,
बेटियाँ धान के पौधों की तरह होती हैं.,

 

ऐ-खुदा, मैं तेरा शुक्रिया बार-बार करती हूँ,
अपनी बिटिया से मैं बहुत प्यार करती हूँ,
रखना तूं उसे सलामत जब तक ये चाँद तारे हैं,
बस यही दुआ मैं तुझसे हज़ार बार करती हूँ.,

 

सूने दिन भी दोस्तों, त्यौहार बनते हैं,
फूल भी हंसकर, गले का हार बनते हैं,
टूटने लगते है सारे बोझ से रिश्ते,
बेटियां होती है तो परिवार बनते हैं.,

 

खिलती हुई कलियाँ हैं बेटियाँ,
माँ-बाप का दर्द समझती हैं बेटियाँ,
घर को रोशन करती हैं बेटियाँ,
लड़के आज हैं तो आने वाला कल हैं बेटियाँ.,

 

जिस घर मे होती है बेटियां,
रौशनी हरपल रहती है वहां,
हरदम सुख ही बरसे उस घर,
मुस्कान बिखेरे बेटियां जहाँ.,

 

shayari on beti ki vidai

 

एक मीठी सी मुस्कान हैं बेटी,
यह सच है कि मेहमान हैं बेटी,
उस घर की पहचान बनने चली,
जिस घर से अनजान हैं बेटी.,

 

बेटी को जन्म देकर मां को मिलती है नई दोस्त,
और एक मां में मिलती है बेटी को पहली दोस्त.,

 

अगर बेटियां है पिता का गुरूर,
तो मां के लिए हैं वो आंखों का नूर.,

 

मां से ईंट-पत्थर का मकान घर बन जाता है,
मां-बेटी के रिश्ता से वो घर रोशन हो जाता है.,

 

बेटी से ही होती है मां की खुशी, बेटी ही होती है मां की जान,
आगे चलकर ये बेटी ही बढ़ाती है मां का अभिमान.,

 

मां-बेटी रहे घर में, तो लगता है घर मेला,
दोनों में से कोई दूर जाए, तो घर लगता है अकेला.,

 

जब-जब बेटी के चेहरे पर नूर आता है,
तब-तब मां के दिल को सुकून आता है.,

 

बेटियों को नहीं मानती मां कभी पराई,
मां-बेटी होती है एक दूसरे की परछाई.,

 

बेटी के साथ से मां को मिल जाती है पूरी दुनिया,
मां के पास होने से बेटी को मिल जाती हैं खुशियां.,

 

मां तुम साथ हो, तो हर मुसीबत आसान है,
तुम हो मेरी प्यारी मां, मुझे इस बात का अभिमान है.,

 

shayari beti ke liye

 

भूलकर भी मां को कभी न देना दुख,
वरना दुनिया में कभी नहीं मिलेगा सुख.,

 

तुम गुस्सा करो, मैं तुम्हें मनाऊं,
मां मैं तुम्हारा साथ हर पल निभाऊं.,

 

मां हर पल करती है बेटी का जिक्र,
क्योंकि मां को होती है बेटी की फिक्र.,

 

मां की दुआ में होता है बहुत जोर,
हर मुश्किल को कर देती है दूर.,

 

मां की ममता ले सकती है किसी की भी जगह,
पर कोई नहीं ले सकता मां की ममता की जगह.,

 

सोते वक्त भले ही मां की आंखें बंद होती है,
लेकिन उस वक्त भी मां फिकरमंद होती है.,

 

सबकी आंखों का तारा होती हैं बेटियां,
मां के लिए सबसे प्यारी होती हैं बेटियां.,

 

हर मां-बेटी को चाहिए एक दूसरे का साथ,
हर मुश्किल में वो थामती हैं एक दूसरे का हाथ.,

 

मेरी जिंदगी को आसान बना दिया,
मां तूने मेरी हर मुश्किल को अपना बना लिया।

 

भले ही मिल जाए दुनिया की सारी खुशियां,
पर बिना मां के प्यार के बेकार है सारी खुशियां.,

 

shayari on beti

 

मेरे आंगन की चिड़िया अब कहीं और चहकती है,
वो अब किसी और के घर-आंगन को महकाती है.,

 

मां अपने बच्चों के लिए कई सितम उठाती है,
अपने बच्चों के लिए दुनिया से लड़ जाती है,
मां कई त्याग करके बच्चों का भविष्य बनाती है,
मां वो है जो अपने बच्चों को सही इंसान बनाती है.,

 

बेटियों को पसंद है जब मां हंसती है,
क्योंकि बेटियों के दिल में मां बस्ती है.,

 

भले ही बेटी के जीवन में आए कई लोग,
लेकिन, जितना मां-बेटी होते हैं करीब,
शायद ही होगा कोई बेटी से उतना करीब.,

 

सोते वक्त मां लोरी सुनाए,
कभी गुस्सा होकर आंख दिखाए,
कभी दोस्त बनकर साथ निभाए,
ये ही तो मां-बेटी का रिश्ता कहलाए.,

 

Shayari Beti ke Liye

अगर आप अपनी बेटी के लिए कुछ ऐसा काम कर रहे जिससे वो आपको अपना सब कुछ माने तो आप बहुत ही महान है तो आइए आब कुछ शायरी हम पेस करते है Shayari Beti ke Liye जो आप उनको कभी भी शेयर कर सकते है।

 

मां, तुम मेरा इतना ख्याल रखती हो,
पर खुद का ख्याल रखना भूल जाती हो,
मुझे इतना समझाती हो,
लेकिन, खुद क्यों नहीं समझ पाती हो.,

 

गलती करो तो डांट लगाती,
कोई और डांटे तो खुद बचाती,
मुश्किलों में भी वो हमेशा मुस्कुराती,
इसलिए मम्मी तुम हो मुझे जान से प्यारी.,

 

मुश्किलों में मुस्कुराने की कला जानती है वो,
मेरे हर गम को अपना बना लेती है वो,
मुझे खिलाकर भूखी रहती है वो,
कोई फरिश्ता नहीं, मेरी मां है वो.,

 

मम्मी का साथ देती,
पापा की शान बढ़ाती,
चाहे हो कैसी भी मुश्किल,
बेटियां हंसकर पार कर जाती.,

 

उस घर में हमेशा होता है खुशी का माहौल,
जिस घर में बेटियां पलती और बढ़ती हैं,
जब वो पायल पहनकर झन-झन घर में घूमती हैं,
हंसी और खुशी से झूम उठता है घर का माहौल.,

 

beti ke upar shayari

 

मंजिल दूर और सफ़र बहुत है,

छोटी सी जिन्दगी की फिकर बहुत है,

मार डालती ये दुनिया कब की हमे,

लेकिन पापा के प्यार में असर बहुत है.,

 

एक मीठी सी मुस्कान हैं बेटी,

यह सच है कि मेहमान हैं बेटी,

उस घर की पहचान बनने चली

जिस घर से अनजान हैं बेटी.

बेटा अंश हैं तो बेटी वंश हैं,

बेटा आन हैं तो बेटी शान हैं.,

 

बेटी है कुदरत का उपहार,

जीने का इसको दो अधिकार.,

 

जिस घर मे होती है बेटियां,

रौशनी हरपल रहती है वहां.,

 

उस वक्त एक पिता की हर तमन्ना पूरी हो जाती है,

जब बेटी ससुराल से मायके हंसते हुए आती है.,

 

जिस घर मे होती है बेटियां,

रौशनी हरपल रहती है वहां,

हरदम सुख ही बरसे उस घर,

मुस्कान बिखेरे बेटियां जहाँ.,

 

सो जा मेरी प्यारी राजदुलारी,

तुझको सुलाए तेरी माँ,

तू है मेरी राजकुमारी,

तुझ पर जान लुटाये तेरी माँ.,

 

बिटिया मेरी कहती बाहें पसार,

उसको चाहिए बस प्यार-दुलार,

उसकी अनदेखी करते हैं सब,

क्यों इतना निष्ठुर ये संसार.,

 

सूने दिन भी दोस्तों, त्यौहार बनते हैं,

फूल भी हंसकर, गले का हार बनते हैं,

टूटने लगते है सारे बोझ से रिश्ते,

बेटियां होती है तो परिवार बनते हैं.,

 

 

जैसे संत, पुरूष को पावन कुटिया देता है,

गंगा जल धारण करने को लुटिया देता है,

जिस पर लक्ष्मी, दुर्गा, सरस्वती की किरपा हो,

उसके घर में ऊपर वाला बिटिया देता है.,

 

हर बेटी का बाप बादशाह नहीं होता,
लेकिन हर बेटी, बाप की शेज़ड़ी होती है.,

 

बाप और बेटी की एक बात एक जैसी होती है,
दोनों को अपनी गुड़िया से बहुत प्यार होता है.,

 

कंधे पर मेरे जब बोझ बढ़ जाता है,
मेरे बाबा मुझे बोहोत याद आते हैं.,

 

बाप का हाथ जब तक कन्धुन पर रहता है,
बेटी दुनिया में सब से ताकतवर होती है.,

 

शर्त लगी है, ख़ुशी को एक लफ्ज़ में लिखने की,
वो किताबयें ढूंढते रहे और मैंने बेटी लिख दिया.,

 

बेटियां सब के मुक़द्दर में कहाँ होती हैं,
घर जो खुदा को पसंद आये वहाँ होती हैं.,

 

खुद की बहन-बेटी को इज्जत से देखने वाले,
दूसरों के बहन-बेटियों की इज्जत के बनों रखवाले.,

 

हर परिवार के कुल को बढ़ाती है बेटियां,
फिर भी पैरों तले कुचल दी जाती है बेटियां.,

 

माँ-बाप की एक आह पर छुप-छुप कर रोती है बेटियां,
फिर भी आज के दौर में गर्भ में जान खोती है बेटियां.,

 

 

बेटी भार नही है आधार,
जीवन हैं उसका अधिकार,
शिक्षा हैं उसका हथियार,
बढ़ाओ कदम करो स्वीकार.,

 

जरूरी नही रौशनी चिरागों से ही हो,
बेटियाँ भी घर में उजाला करती हैं.,

 

जिस घर मे होती है बेटियां
रौशनी हरपल रहती है वहां
हरदम सुख ही बरसे उस घर
मुस्कान बिखेरे बेटियां जहाँ.,

 

एक मीठी सी मुस्कान हैं बेटी,
यह सच है कि मेहमान हैं बेटी,
उस घर की पहचान बनने चली,
जिस घर से अनजान हैं बेटी.,

 

बिटिया मेरी कहती बाहें पसार,
उसको चाहिए बस प्यार-दुलार,
उसकी अनदेखी करते हैं सब,
क्यों इतना निष्ठुर ये संसार.,

 

बेटा अंश हैं तो बेटी वंश हैं,
बेटा आन हैं तो बेटी शान हैं.,

 

बेटी बचाओ और जीवन सजाओ,
बेटी पढ़ाओ और ख़ुशहाली बढ़ाओ.,

 

 

किस्मत वाले है वो लोग,
जिन्हें बेटियां नसीब होती है,
ये सच है कि उन लोगों को,
रब की मोहब्बत नसीब होती है.,

 

धन पराया होकर भी,
बेटी होती नहीं पराई,
इसीलिए बिन रोये माँ-बाप,
बेटी की करते नहीं विदाई.,

 

हमेशा खुद को मजबूत दिखाते है पापा,
बिदाई के समय ऐसा लगा जैसे,
जी भर कर रोना चाहते है पापा.,

 

बेटे अक्सर चले जाते हैं माँ-बाप का दिल तोड़कर,
बेटियाँ तो गुजारा कर लेती हैं टूटी पायल जोड़कर.,

 

बेटियों की बदौलत ही आबाद है घर-परिवार,
अगर न होती बेटियाँ तो थम जाता यह संसार.,

 

क्या कहती हो ठहरो नारी,
संकल्प अश्रु-जल-से-अपने,
तुम दान कर चुकी पहले ही,
जीवन के सोने-से-सपने.,

 

बेटियों के पास भी पंख होते है,
कभी उनके अरमान देखों,
एक मौका और थोड़ा सा हौसला दो,
फिर उसकी ऊँची उड़ान देखो.,

 

अगर बेटी की शादी न हो उसकी रजा से,
तो बेटी की जिंदगी कम नहीं होती है किसी सजा से.,

 

माँ-बाप का हमेशा ख्याल बेटियां रखती है,
फिर क्यों परी-सी बेटी कोख में ही मरती है.,

 

दहेज़ जैसे बुरे रस्मों-रिवाज और यह दुनियादारी,
वरना किस माँ-बाप को अपनी बेटी नहीं होती है प्यारी.,

 

बेटी के दिल में माँ-बाप के तस्वीर बड़े होते हैं,
क्योंकि हर सुख-दुःख में बेटी के साथ खड़े होते हैं.,

 

Conclusion

यही सभी Beti Shayari आप सभी को काफी पसंद आई होंगी अगर नहीं तो आप हमे कमेन्ट मे बताए हम अपने अगले पोस्ट व  Hindi Shayari मे कुछ अच्छा सुधार करेंगे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.