Chahat Shayari – दोस्तों चाहत एक ऐसी चीज है जो दो दीवानों को एक दूसरे की नजर मे खास बनाती है क्योंकि जब एक प्रेमी अपनी प्रेमिका को पसंद करता तो उसके इस रीलैशन मे एक चाहत उत्तपन होती जो एक दूसरे के साथ को मजबूत करता है। इस लिए आपको हर सच्चे प्रेमी के अंदर अपने साथी के लिए बहुत ज्यादा चाहत देखने को मिलगी।

एक रीलैशन मे चाहत बहुत ही ज्यादा महत्व रखता क्योंकि इसी चाहत के दम पर आप यह निर्धारित करते की आप जिसको पसंद कर रहे वो आपके लिए कितना अधिक महत्व है। हर एक रीलैशन मे सबसे अधिक चाहत आपको एक सच्चे प्रेमी के जोड़े मे मिलेगी जो बिना किसी स्वार्थ के अपने साथी को सच्चे दिल से चहता है।

इस लिए आज हम आपके लिए ये कुछ अच्छी सी Chahat Shayari लेकर आए जो आपको अधिक पसंद आएगी क्योंकि जब आप किसी से सच्चा प्यार करते तो वह आपको अधिक महत्व देता और फिर आपका साथ और भी अच्छा बन जाता जो जीवन के अंत तक साथ मे राहत है।

इस लिए आप सभी इन Chahat Shayari को जरूर पढे ताकि आप इन चाहत शायरी की मदद से अपने साथी को अपने प्रेम के बारे मे बता सको और इसे यह फ़ील करा सको की आपको कितनी चाहत है इसके लिए तो पढे इन सभी Chahat Shayari 2 Lines को बिना कोई स्वार्थ।

 

Chahat Shayari in Hindi For Girlfriend

आइए अब आपको हम ये सभी Chahat Shayari in Hindi For Girlfriend पढ़ाने जा रहे जिसे आप ध्यान से पढे और इसे अपने दोस्तों मे भी भेजे ताकि आप उनको भी कुछ अच्छा सा शायरी पढ़ा कर उनका दिल जीत सको तो आइए पढे यह सभी Chahat Shayari बिना किसी परेशानी।

 

तेरी चाहत का मैं इन्कार नहीं कर सकती,

फिर भी जो हद है उसे पार नहीं कर सकती.,

 

मेरे दिल में तेरी चाहत बस जाए बन के धड़कन,
पल भर न भूल पाऊँ दिल में ऐसी तड़प जग दे.,

 

क़ुबूल हो गई दुआ तेरे सीने से लग कर,
अब दम भी निकल जाए तो परवाह नहीं.,

 

हमने तो एक ही शख़्स पर चाहत ख़त्म कर दी,
अब मोहब्बत किसको कहते हैं हमें मालूम नहीं.,

 

दूर भागो न कहीं हमसे गज़ालों की तरह,
हमने चाहा है तुम्हें चाहने वालों की तरह.,

 

chahat shayari

 

नशा किस चीज़ को कहते अगर तुम देखना चाहो,
तो जाकर कहो उनसे अपनी झुकी पलकें उठा लें वो.,

 

तुम खुद उलझ जाओगे मुझे ग़म देने की चाहत मे,
मुझमें हौंसला बहुत है मुस्कुराकर निकल जाऊँगा.,

 

गम ना कर ज़िंदगी बहुत बड़ी है,

चाहत की महफ़िल तेरे लिए सजी है,

बस एक बार मुस्कुरा कर तो देख,

तक़दीर खुद तुझसे मिलने बाहर खड़ी है.,

 

गर मेरी चाहतों के मुताबिक, जमाने में हर बात होती,

तो बस मैं होता वो होती, और सारी रात बरसात होती.,

 

मोहब्बत मुझे थी उसी से सनम, यादों में उसकी यह दिल तड़पता रहा,

मौत भी मेरी चाहत को रोक न सकी, कब्र में भी यह दिल धड़कता रहा.,

 

Saheli Shayari 

 

बेखुदी में बस एक इरादा कर लिया,

इस दिल की चाहत को हद से ज्यादा कर लिया,

जानते थे वो इसे निभा न सकेंगे पर,

उन्होंने मजाक और हमने वादा कर लिया.,

 

धोखा ना देना कि तुझपे ऐतबार बहुत है,

ये दिल तेरी चाहत का तलबगार बहुत है,

तेरी सूरत ना दिखे तो दिखाई कुछ नहीं देता,

हम क्या करें कि तुझसे हमें प्यार बहुत है.,

 

वफ़ा की लाज हम वफ़ा से निभाएंगे,
चाहत के दीप हम आँखों से जलाएंगे,

कभी जो गुज़ारना हो तुम्हे दुसरे रास्तो से,

हम फूल बनकर तेरी राहो में बिखर जायेंगे.,

 

गुलाब की खुशबू भी फीकी लगती है,

कौन सी खूशबू मुझमें बसा गई हो तुम,

जिंदगी है क्या तेरी चाहत के सिवा,

ये कैसा ख्वाब आंखों में दिखा गई हो तुम.,

 

मेरी चाहत को मेरे हालात के तराजू में कभी मत तोलना,

मैंने वो ज़ख्म भी खाए है, जो मेरी किस्मत में नहीं थे.,

 

jeene ki chahat shayari

 

जिसे चाहो, जब वो रूठ जाते है,
दिल के सारे अरमान टूट जाते है.,

 

अपनी चाहत का इजहार कब करोगी,
उम्र बीत रहा है प्यार कब करोगी.,

 

हम अपनी चाहत का यकीन दिलाते नही है,
जिसमें सादगी नही, उससे दिल लगाते नही है.,

 

जब से बढ़ी मेरी तुझसे चाहत है,
मेरी जिंदगी में सनम बड़ी राहत है.,

 

चिरागों से अगर अँधेरा दूर होता,
तो चांदनी की चाहत क्यों होती,
कट सकती अगर ये जिंदगी अकेले,
तो साथी की जरूरत ही क्यों होती.,

 

DP Shayari

 

चाहते तो हम बहुत ज्यादा है,
पर पाते है जरूरत से आधा है.,

 

तुम बेवफा हो फिर भी ऐतबार करता हूँ,
आज भी चाहता हूँ तुम्हे प्यार करता हूँ.,

 

अपनी चाहत को होठो पर सजाना चाहती हूँ,
तू मिले या न मिले तुझे गुनगुनाना चाहती हूँ.,

 

जमाना बदल गया लोग बदल गये,
आदत बदल गई बस चाहत वही है.,

 

तेरे गम को अपनी रूह में उतार लूँ,
जिन्दगी तेरी चाहत में सवार लूँ,
मुलाक़ात हो तुझ से कुछ इस तरह,
तमाम उम्र बस इक मुलाक़ात में गुजार लूँ.,

 

chahat shayari gulzar

 

बिखरा पड़ा है बाजार मेरी चाहत का,
मिला नहीं मुकाम दिल को राहत का.,

 

कोई अपनी चाहत का इजहार करें,
तो उसके जज्बात की कद्र करना,
क्योंकि जब दिल टूटता है,
तो दर्द इक जमाने तक होता है.,

 

एक दिन जब मेरी सांस थम जायेगी,
मत सोचना चाहत कम हो जायेगी.,

 

कद्र करोगी जब तुम्हें पता चलेगा,
कि बिना मतलब की चाहत रखते है.,

 

दुनियावालों ने लगा रखा पहरा है,
हम दोनों का चाहत कितना गहरा है.,

 

Chahat Shayari in Hindi For Girlfriend

दोस्तों अब आइए आपको हम आपकी गर्लफ्रेंड के लिए कुछ अच्छी Chahat Shayari in Hindi For Girlfriend बताने जा रहे जिसे आपको जरूर पढ़ना चहाइए तो अगर आप सभी इस Chahat Quotes को पढ़ना चाहते हो तो इस पोस्ट को पढ़ो।

 

उम्र के साथ चाहत घट जाती है,
जिम्मेदारियाँ बढ़ी तो चाहत बँट जाती है.,

 

तुम्हारे लिए मेरी चाहत कभी कम ना होती,
अगर तू इतनी संग दिल और बेरहम ना होती.

कुछ भी नही है पास मेरे,बस बदनामी साथ लाया हूँ,

तेरी चाहत की तस्वीर थी,तेरी चाहत लौटाने आया हूँ.,

 

ये ज़रूरी नहीं है की हर बात पर तुम मेरा कहा मानो,
दहलीज पर रख दी है चाहत और अब आगे तुम जानो.,

 

दौलत जो थी पास वफा की वो दौलत छोड़ दी हमने,
देख के हाल चाहत का कि ये चाहत छोड़ दी हमने.,

 

chahat shayari 2 lines

 

सिलसिला ये चाहत का दोनो तरफ से था,
वो मेरी जान चाहती थी और मैं जान से ज्यादा उसे.,

 

ऐ सुनो तुम इतने भी अच्छे नही हो,
बस मेरे चाहत -ए-दिल ने सिर पर चढा रखा है.,

 

तेरी चाहतो पर मुझे ऐतबार है,
इसलिए मुझे तुमसे खुद से ज्यादा प्यार है.,

 

चाहतों का सफर जब खत्म होता है,
हकीकत में जिंदगी तभी शुरू होती है.,

 

दर्द की चाहत किसे होती है मेरे यारो,
ये तो मोहब्बत के साथ मुफ़्त में मिलता है.,

 

वो छा गये है कोहरे की तरह मेरे चारो तरफ,
न कोई दूसरा दिखता है ना देखने की चाहत है.,

 

वादे वफ़ा के और चाहत जिस्म की,
अगर ये मोहब्बत है तो फिर हवस किसे कहते है.,

 

इंसान की चाहत कि उङने को पर मिले,
और परिंदे सोचते है कि रहने को घर मिले.,

 

किसी के पैगाम को ज़रा प्यार से पढ़ा कीजिये,
किसी की चाहत का एहसास किया कीजिये.,

 

उम्र के साथ चाहत घट जाती है,
जिम्मेदारियाँ बढ़ी तो चाहत बँट जाती है.,

 

chahat shayari in hindi for girlfriend

 

ना जाने क्यों तुझे देखने के बाद भी,
तुझे ही देखने की चाहत रहती है.,

 

कुछ तो है कहीं, ये जो थोड़ा प्यार-सा है,
नशा है तेरा, चाहत या इक ख़ुमार-सा है.,

 

एक उमर बीत चली है तुझे चाहते हुए,
तू आज भी बेखबर है कल की तरह.,

 

टूट सा गया है मेरी चाहतों का वजूद,
अब कोई अच्छा भी लगे तो हम इजहार नहीं करते.,

 

कभी नफरत कभी चाहत से मुझे देखता है,
देखने वाला ज़रूरत से मुझे देखता है.,

 

कई बार ये सोच के दिल मेरा रो देता है,
कि तुझे पाने की चाहत में मैंने खुद को भी खो दिया.,

 

एक चाहत थी, तेरे साथ जीने की,
वरना, मोहब्बत तो किसी से भी हो सकती थी.,

 

चाहत की राहो में काँटा भी फुल है,
चाहत को तौलना दुनिया की भूल है.,

 

अपनी चाहत का इजहार कब करोगी,
उम्र बीत रहा है प्यार कब करोगी.,

 

मेरी चाहत का ये कैसा सिला दिया है,
मेरी हर खुशी को मिट्टी में मिला दिया है.,

 

 

सफर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
नजर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
हजारों फूल देखे हैं इस गुलशन में मगर,
खुशबू वहीं तक है जहाँ तक तुम हो.,

 

वो छा गये है कोहरे की तरह मेरे चारो तरफ,
न कोई दूसरा दिखता है ना देखने की चाहत है.,

 

धीरे धीरे हम भी खो रहे है वजह किसी की चाहत है,
चलो ये भी आजमा कर देख ले हैं कितनी राहत है.,

 

आज हम हैं, कल हमारी यादें होंगी,
जब हम ना होंगे, तब हमारी बातें होंगी,
कभी पलटो गे जिंदगी के ये पन्ने,
तो शायद आप की आँखों से भी बरसातें होंगी.,

 

तुम्हारी पसन्द हमारी चाहत बन जाये,
तुम्हारी मुस्कुराहट दिल की राहत बन जाये,
खुदा खुशियो से इतना खुश कर दे आपको,
की आपकी ख़ुशी देखना हमारी आदत बन जाये.,

 

Jeene Ki Chahat Shayari

अब आइए आपको हम कुछ अच्छी Jeene ki Chahat Shayari सुनाएंगे जो आपको बहुत अधिक पसंद आने वाली है तो अगर आप भी chahat Quotes खोज रहे तो आप इस पोस्ट को देखे।

 

एक चाहत होती है, जनाब अपनों के साथ जीने की,
वरना पता तो हमें भी है कि ऊपर अकेले ही जाना है.,

 

तेरे हर ग़म को अपनी रूह में उतार लूँ,
ज़िंदगी अपनी तेरी चाहत में सवार लूँ,
मुलाक़ात हो तुझसे कुछ इस तरह मेरी,
सारी उम्र बस एक मुलाक़ात में गुज़ार लूँ.,

 

रिश्तों से बड़ी चाहत और क्या होगी,
दोस्ती से बड़ी इबादत और क्या होगी,
जिसे दोस्त मिल सके कोई आप जैसा,
उसे ज़िंदगी से कोई और शिकायत क्या होगी.,

 

हमारी गलतियों से कही टूट न जाना,
हमारी शरारत से कही रूठ न जाना,
तुम्हारी चाहत ही हमारी जिंदगी हैं,
इस प्यारे से बंधन को भूल न जाना.,

 

कोई चाहत की बात करता है,
तो कोई चाहने की,
हम दोनोँ आज़मा के बैठे हैँ,
ना चाहत मिली ना तो चाहने वाले.,

 

 

ज़माना हो गया देखो मगर चाहत नहीं बदली,
किसी की ज़िद नहीं बदली मेरी आदत नहीं बदली.,

 

हमारे बाद नहीं आएगा तुम्हें चाहत का ऐसा मज़ा,
तुम लोगों से कहते फ़िरोगे मुझे चाहो उस की तरह.,

 

कैसी गहराई है तेरी चाहत में और मेरी मोहब्बत में,
न डूबा हूँ अब तक, न सतह की कोई उम्मीद नज़र आती है.,

 

तेरी चाहत मे हम जमाना भूल गये,
किसी और को हम अपनाना भूल गये,
तूम से मोहब्बत हे साारे जहान को बताया,
बस एक तूझे ही बताना भूल गये.,

 

ढूढने चला था एक शख्स की चाहत,
खुद को भी खो दिया उसकी मोहब्बत मे.,

 

चिरागों से अगर अँधेरा दूर होता,
तो चांदनी की चाहत क्यूँ होती,
कट सकती अगर ये ज़िन्दगी अकेले,
तो साथी की जरूरत ही क्यूँ होती.,

 

हर कोई पाने की ज़िद में हैं,
शायद मुझे कोई आज़माने की ज़िद में है,
जिसकी चाहत है मुझे बेइंतेहा,
वो मुझे भूल जाने की ज़िद में है.,

 

अगर दुनिया में जीने की चाहत ना होती,
तो खुदा ने मोहब्बत बनाई ना होती,
लोग मरने की आरज़ू ना करते,
अगर मोहब्बत में बेवाफ़ाई ना होती.,

 

चाहत के ये कैसे अफ़साने हुए,
खुद नज़रों में अपनी बेगाने हुए,
अब दुनिया की नहीं कोई परवाह हमें,
इश्क़ में तेरे इस कदर दीवाने हुए.,

 

अनजाने में तुझसे मुलाकात सी हो गयी,
दोस्ती करने चले थे और तुझसे चाहत सी हो गयी,
अपने वजूद में तुझे तलाश करते है,
हमे तुमसे मोहब्बत सी हो गयी.,

 

 

तेरे गम को अपनी रूह में उतार लूँ,
जिन्दगी तेरी चाहत में सवार लूँ,
मुलाकात हो तुझ से कुछ इस तरह,
तमाम उमर बस इक मुलाकात में गुजार लूँ.,

 

प्यार है मुझसे तो सारी खुशियाँ समेट लो मेरी,
गमों का क्या है, ये चाहत से खुशियों में बदल जायेंगे.,

 

रिहा कर ख़ूबसूरत दिखने की चाहत से मुझे,
ऐ आईने तू मेरी सादगी को ज़मानत दे दे.,

 

मेरी चाहत का एहसास भी ना होगा उसे,
उसकी हर अदा पसन्द आई, बेवफाई के सिवा.,

 

वो शमा की महफिल ही क्या,
जिसमें दिल खाक न हो,
मज़ा तो तब है चाहत का,
जब दिल तो जले पर राख न हो.,

 

ढूढने चला था एक शख्स की चाहत,
खुद को भी खो दिया उसकी मोहब्बत मे.,

 

अभी नादाँ हु इश्क में जताऊ कैसे,
प्यार कितना है तुमसे बताऊ कैसे,
बहुत चाहत है दिल में तुम्हारे लिये,
तुम ही कहो तुम्हें अपना बनाऊ कैसे.,

 

तुम्हारी पसंद हमारी चाहत बन जाये,
तुम्हारी मुस्कुराहट दिल कि राहत बन ज़ाये,
खुदा खुशियो से इतना खुश कर दे आपको,
कि आपको खुश देख़ना हमारी आदत बन जाये.,

 

एक अजनबी से मुझे इतना प्यार क्यों है,
इंकार करने पर चाहत का इकरार क्यों है,
उसे पाना नहीं मेरी तकदीर में शायद,
फिर हर मोड़ पे उसी का इंतज़ार क्यों है.,

 

कुछ उलझे सवालो से डरता हे दिल,
जाने क्यों तन्हाई में बिखरता हे दिल,
किसी को पाने कि अब कोई चाहत न रही,
बस कुछ अपनों को खोने से डरता हे ये दिल.,

 

तेरे ख़त की इबारत की मैं स्याही बन गया होता,
तो चाहत की डगर का मैं भी राही बन गया होता.,

 

इश्क़ का खेल बहुत ही अजीब हो गया है,
इंसा दिल के बहुत करीब हो गया है,
भर तो ली है झोली उन सब ने सिक्कों से,
मगर, चाहत के मुकाबले बहुत गरीब हो गया है.,

 

एक उमर बीत चली है तुझे चाहते हुए,
तू आज भी बेखबर है कल की तरह.,

 

मजा चख लेने दो उसे गैरों की मोहब्बत का भी,
इतनी चाहत के बाद जो मेरा न हुआ वो औरों का क्या होगा.,

 

बिन बात के ही रूठने की आदत है,
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है,
आप खुश रहें, मेरा क्या है,
मैं तो आइना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है.,

 

Conclusion

यही सभी Chahat Shayari आप सभी को काफी पसंद आई होंगी अगर नहीं तो आप हमे कमेन्ट मे बताए हम अपने अगले पोस्ट व  Hindi Shayari मे कुछ अच्छा सुधार करेंगे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.