Gussa Shayari – दोस्तों आज के समय मे हर किसी को बहुत ही जल्दी गुस्सा आने लगता और गुस्सा के ही वजह से सभी लोग उस व्यक्ति को खराब भी समझने लगते लेकिन काफी अपने यह जाना की जो व्यक्ति ज्यादा गुस्सा करता वो ही दिल का सबसे अच्छा और सच्चा व्यक्ति होता है।

क्योंकि जो ज्यादा गुस्सा करता उसे गलत सुनना अच्छा नहीं लगता और इसी वजह से वह जब किसी के बारे मे बुरा सुन तो गुस्सा हो जाता लेकिन अधिक गुस्सा सेहत के लिए अच्छा नहीं होता इस लिए आज हम आपको कुछ Gussa Shayari पढ़ाने जा रहे जो आप पहले खुद पढे ताकि आप यह समझ सके की गुस्सा करने वाले व्यक्ति कैसे होते है।

इस के बाद आप यह सभी Gussa Shayari को उन सभी लोगों को भेजे जो बहुत ज्यादा गुस्सा करते क्योंकि गुस्सा आपकी सेहत के लिए ठीक नहीं होता और गुस्सा करने से सामने वाले के आगे आपका बुरा चित्र भी बंता है। इस लिए आप यह सभी Gussa Status पढे और अपने उन सभी खास शकस को यह Gussa Shayari भेजे जो ज्यादा गुस्सा करते है।

ताकि वह इन सभी Shayari on Gussa को पढ़ कर अपना गुस्सा कम करे और अपनी एक अच्छी छवि सबके सामने रखे जिससे की सभी लोग आपको पसंद करे तो पढिए इन सभी Gussa Shayari in Hindi को और शेयर भी करिए इन सभी शायरी को अपने दोस्तों मे ताकि वो भी इसे पढ़ सके।

 

Gussa Wali Shayari in Hindi

अब आइए आपको हम यह स्पेशल Gussa Wali Shayari in Hindi पढ़ाने जा रहे जो आपको और भी ज्यादा पसंद आएगा और साथ मे आप इसे शेयर भी करे ताकि बाकी आपके साथ मे रहने वाले भी इन सभी Gussa Shayari को पढ़ सके।

 

वो इश्क़ जो हकीकत में इश्क़ होता है,
ज़िन्दगी में सिर्फ एक बार होता है,
निगाहों के मिलते मिलते दिल मिल जाये,
ऐसा इत्तेफाक सिर्फ एक बार होता है.,

 

मौजूदगी जरूरी नहीं जरूरी एहसास है,
मैं कही दूर नहीं तुम्हारे आस पास हो,
देखो तो जरा मन की आँखों से,
मैं हर कदम पर तुम्हारे साथ हू.,

 

जब भी खोलो आप अपनी पलकें,
उन पलकों में बस खुशियों की झलक हो,
मुझे मालूम है तुमने बहुत बरसातें देखी है,
मगर मेरी इन्हीं आँखों से सावन हार जाता है.,

 

जरूरी तो बहुत है ईश्क जिन्दगी मे मगर,
ये जानलेवा जरूरत भगवान किसी को न दें.,

 

कभी किसी के दिल से खिलवाड़ मत करना,
कभी किसी के दिल का दर्द मत बनना,
जो न दे सको किसी का साथ जिंदगी भर
कभी किसी से झूठा प्यार मत करना.,

 

Gussa Shayari

 

प्यार के उजाले में गम का अंधेरा क्युँ है,
जिसको हम चाहें वही रूलाता क्युँ है,
मेरे रबा अगर वो मेरा नसीब नही तो,
ऐसे लोगों से हमें मिलाता क्युँ है.,

 

कहते है दोस्त मुझसे के तू कितना खुश नसीब है,
तू शायरी लिखता है आज मैं कहता हूँ,
रब किसी को शायर न बनाये,
इस हुनर को पाने मे बड़ा दर्द होता है.,

 

साथ छोड़ना बहुत मुश्किल है,
तेरे से नाता तोड़ना बहुत मुश्किल है,
तू जान इस दिल की,
तुझसे रूठ जाना बहुत मुश्किल है.,

 

तुम पर गुस्सा आता ही नहीं,

ना जाने कितनी मुहब्बत कर बैठा हूँ तुमसे.,

 

मेरा गुस्सा वहां पर ख़त्म हो जाता है जहां,

प्यार से वो पगली बोलती है अच्छा बाबा सॉरी.,

 

Fanaa Shayari

 

जिन्हें गुस्सा आता है वो लोग ही सच्चे होते हैं,

मैंने झूठों को अक्सर मुस्कुराते हुए देखा है.,

 

उसकी आंखों में पढ़ ली थी वो बाते मैंने,

जिन्हे छुपाने के लिए वो गुस्सा दिखाया करती थी.,

 

तुम जब गुस्सा हो जाते हो तो ऐसा,

लगता है मनाते मनाते ज़िन्दगी गुजार दूँ.,

 

गुस्सा इतना है कि तुमसे कभी बात भी न करू,

फिर भी दिल में तेरी फ़िक्र खुद से ज्यादा है.,

 

तुम्हारा गुस्सा भी इतना प्यारा है की,

दिल करता है तुम्हे दिन भर तंग करते रहे.,

 

Gussa Shayari

 

हर शख्स के चेहरे पर उदासी है, गम है, गुस्सा है,

शहर मैं ये कौनसी खैरात बंट रही है मुझे भी देखना है.,

 

तुम को आता है प्यार पर ग़ुस्सा,
मुझ को ग़ुस्से पे प्यार आता है.,

 

जिन्हें गुस्सा आता है वो लोग सच्चे होते हैं,
मैंने झूठों को अक्सर मुस्कुराते हुए देखा है.,

 

तुम जब गुस्सा हो जाते हो तो ऐसा लगता है,
मनाते मनाते ज़िन्दगी गुजार दूँ.,

 

तुम्हारा तो गुस्सा भी इतना प्यारा है की,
दिल करता है दिन भर तुम्हे तंग करता रहूँ.,

 

Smile Shayari

 

बेहद गुस्सा करते हो आजकल,
नफरत करने लगे लगे हो,
या मोहब्बत ज्यादा हो गयी.,

 

क्रोध में भी शब्दों का चुनाव कैसा होना चाहिए,
की कल जब गुस्सा उतरे तो खुद की नजरों में,
शर्मिंदा ना होना पड़े.,

 

छोटी छोटी बातें दिल में रखने से.
बड़े बड़े रिश्ते कमजोर हो जाते हैं.,

 

तुमसे शुरू और तुम पर ही ख़तम ,
मेरा गुस्सा भी और प्यार भी.,

 

कौन करता है यहाँ प्यार निभाने के लिए,

दिल तोह एक खिलौना है ज़माने के लिए.,

 

Gussa Shayari

 

गुस्सा आना सबके लिए जरूरी है,

पर गुस्सा निकालना कहा है,

ये समझना जरूरी है.,

 

इस तरह मेरे गुनाहों को वो धो देती है,
माँ बहुत गुस्से में होती है तो रो देती है.,

 

ना तेरी शान कम होती ना रूतबा ही घटा होता,
जो गुस्से में कहा तुमने वही हंस के कहा होता.,

 

मैं बदला नहीं, आजकल बस अंदाज सही है
ख़ामोश रहता हूँ पर गुस्से का मिजाज वही है.,

 

कुछ लोग इतने कमाल होते है,
कि बिना वजह गुस्से से लाल होते है.,

 

Gussa Status

दोस्तों अब आइए आपको हम यह Gussa Status पढ़ाने जा रहे जो आपको और भी ज्यादा पसंद आएगी साथ मे आप Shayari on Gussa भी पढे और अपने दोस्तों मे शेयर करो ताकि वो भी इसे पढ़ सके।

 

अक्सर कामयाबी की बात वही करता है,
जो इंसान क्रोध का लगाम अपने हाथ में रखता है.,

 

अगर कोई गुस्सा करता है तो,
ये मत समझो कि वो आपसे.,
नफरत करता है, क्योंकि गुस्सा,
सिर्फ वही करता है जो आपकी फिकर करता है.,

 

जब भी आपको क्रोध या गुस्सा आये,
तो अपने मुंह, हाथ और पैर का प्रयोग न करें.,

 

जो हमेशा गुस्से में रहे उसे छोड़ना जरूरी है,
ऐसे मूर्ख इंसान का घमंड तोड़ना जरूरी है.,

 

गलती किसी से हो जाएँ तो माफ़ किया करो,
गुस्सा हद से ज्यादा आएँ तो डांट लिया करो.,

 

Gussa Shayari

 

गुस्से और आंधी से होने वाला नुकसान,
इनके थम जाने के बाद दिखाई पड़ता है.,

 

जब कोई गुस्से में आपके सामने बात करें,
तो उसे खामोशी के साथ गौर से सुने
क्योंकि अक्सर गुस्से में इन्सान सच बोल देता है.,

 

थोड़े गुस्से वाले थोड़े नादान हो तुम,
लेकिन जैसे भी हो मेरी जान हो तुम.,

 

यदि गुस्से के समय आप धैर्य रखते है,
तो आप वीरों जितना शौर्य रखते है.,

 

नींद आने पर ही इंसान सोता है,
बेवजह कोई गुस्सा नहीं होता है.,

 

ना जाने क्यूँ नजर लगी जमाने की,
अब वजह मिलती नहीं मुस्कुराने की,
तुम्हारा गुस्सा होना तो जायज था,
हमारी आदत छूट गई मनाने की.,

 

मेरे गुस्से का तेवर झेल नही पाओगी,
प्यार का खेल, तुम खेल नहीं पाओगी.,

 

मैंने उसे एक नहीं दो ताजमहल दिए,
और उसने गुस्से में दोनों तोड़ दिए.,

 

हर चेहरे पर उदासी है गम है या फिर गुस्सा है,
शहर मैं ये कौनसी खैरात बंट रही है इन दिनो.,

 

जिन्हें गुस्सा आता है वो लोग सच्चे होते हैं,
मैंने झूठों को अक्सर मुस्कुराते हुए देखा है.,

 

Gussa Shayari

 

जब तक तेरा इतराना और गुस्सा करना बाकी है,
अपने आप को अहले इल्म में शुमार न कर.,

 

बात बात पर तू नाराज़ हो जाता है,

और फिर कहता है कि मुझे बहुत चाहता है,

गुस्सा तो मुझे भी तुम पर बहुत आता है,

पर तेरा चेहरा देखते ही चला जाता है.,

 

यह प्यार वाला गुस्सा भी अजीब होता है,

दोनों ऑनलाइन रहेंगे, एक दूसरे की डीपी देखेंगे,

लेकिन मैसेज कोई नही करेगा,

और सबसे बड़ी बात दोनों मैसेज के इंतेज़ार में होंगे.,

 

मुझे तेरे गुस्से से डर नहीं लगता,

तेरा गुस्सा में झेल लेती हूँ,

हाँ, दिल तो दुखता है तेरे गुस्से से,

लेकिन तुझे खोने के डर से चुप रहती हूँ.,

 

तेरे बाद जो भी रिश्ता बनेगा,

उसका नाम मजबूरी है,

छोड़ दो सब गुस्सा जान,

क्या दूर होना जरूरी है.,

 

ना दिल के बुरे हैं हम,

ना कोई आदत बुरी है,

बस गुस्सा ही रोक नहीं पाते,

तुमसे दूर रहने की यही मजबूरी है.,

 

मुझसे लड़ो झगड़ो चाहे जितना भी,

लेकिन रिश्ता तोड़ मत देना,

मुझ पर गुस्सा करो चाहे कितना भी,

लेकिन हमें छोड़ मत देना.,

 

माना कि बहुत लड़ते हैं,

लेकिन प्यार भी बहुत करते हैं,

हमारे गुस्से से नाराज़ ना हो जाना,

प्यार दिल से और गुस्सा ऊपर से करते हैं.,

 

इश्क़ में शक और गुस्सा वही लोग करते हैं,

जो आपको खोने से डरते हैं,

और बात बात पर वही डरते हैं,

जो आपको दिल से प्यार करते हैं.,

 

गुस्सा आता ही नहीं तेरी किसी बात पर,

ना जाने कितनी मोहब्बत हो गयी तुमसे.,

 

Gussa Shayari

 

मुझे गुस्सा उन पर नहीं खुद पर आता है,

के मैंने इतनी ज्यादा उन्हें मोहब्बत क्यों दी थी.,

 

उसके गुस्से पर भी हमें प्यार आता है,

और हम यह सोच कर मुस्करा दिया करते हैं,

की कोई तो है जो हम पर अपना हक जताता है.,

 

दो पल के गुस्से से प्यार भरा रिश्ता बिखर जाता है,

होश जब आता है तो वक्त निकल जाता है.,

 

इतना गुस्सा करोगे जो हमसे तो और दिल में बस जाऊंगा ,

तुम्हारा ही हूँ मै जब चाहोगे तुम्हारे पास आ जाऊंगा.,

 

Gussa Shayari for Girlfriend

दोस्तों अगर आपकी गर्लफ्रेंड हमेशा अपसे नाराज रहती तो आप उसको यह Gussa Shayari for Girlfriend जिसे पढ़ने के बाद आपकी गर्लफ्रेंड अपना सारा गुस्सा खत्म कर देगी।

 

थोड़े गुस्से वाले थोड़े नादान हो,

तुम मगर जैसे भी हो मेरी जान हो तुम.,

 

मोहब्बत में शक और गुस्सा वो ही करता है,

जो कभी भी तुम्हे खोना नही चाहता.,

 

थोड़े गुस्से वाली थोड़ी नादान हो तुम,

पर जैसी भी हो मेरी जान हो तुम.,

 

ऊपर से गुस्सा दिल से प्यार करते हो,

नजरे चुराते हो दिल बेकरार करते हो,

लाख छुपाओ दुनिया से मुझे खबर है,

तुम मुझे खुद से भी ज्यादा प्यार करते हो.,

 

क्योंकि गुस्सा करोगे तो मनाऊंगा,

नफरत किया तो बिगड़ जाऊंगा.,

 

आपका गुस्सा आपके चरित्र को परिभाषित करता है,

देखना ये है की आपको किन चीजो पर गुस्सा आता है.,

 

 

गुस्सा आने पर चिल्लाने के लिए ताकत नही चाहिए,

परन्तु गुस्से में शांत रहने के लिए बहुत ताकत चाहिए.,

 

गुस्से में अक्सर लोग कड़वा सच बोल ही देते है.,

 

एक दुसरे से गुस्सा होने पर भी,

एक दुसरे का ख्याल रखना यही तो प्यार है.,

 

गुस्से में कभी इतना रायता ना फैलाओ,
की चाहकर भी उसे सिमेट ना पाओगे.,

 

गुस्से और नासमझी में अक्सर इंसान कुछ ऐसा कर देता है,

जहां वो गलत ना हो वहां भी खुद को गलत कर लेता है.,

 

जब भी आपको क्रोध या गुस्सा आये,

तो अपने मुंह हाथ और पैर का प्रयोग न करें.,

 

यदि गुस्से के समय आप धैर्य रखते है,

तो आप वीरो जितना शौर्य रखते है.,

 

कभी-कभी खुद पर ही गुस्सा आ जाता है,

कि मुझे इतना गुस्सा क्यो आता है.,

 

गुस्से में लोग सब भूल जाते है,

कर्मो के मोल सब वसूल जाते है,

कभी सोचते नही है क्या होगा आगे,

क्योकि जिन्दगी छोड़कर ही वो झूल जाते है.,

 

सिर्फ इसके होंट कागज़ पर बना देता हूँ,
खुद बना लेती है होंठों पर हसी अपनी जगह.,

 

 

मोहब्बत एक खुसबो है जो हमेशा साथ चलती है,
कोई इंसान तनहि मैं भी अकेला नहीं होता.,

 

अपने ही समझते है तुम्हे दिलजाना हम तुमको,
दुश्मन को कभी दिल मैं रकह ही नहीं है.,

 

ज़रूरी तो नहीं जुबां से कहे दिल की बात,
जुबां एक और भी होती है इज़हार मोहब्बत की.,

 

ना तोल मेरी मोहब्बत को अपनी दिल्लगी से,
देख आकर अक्सर मेरी मोहब्बत को तराजू टूट जाते है.,

 

इतना भी हमसे नाराज ना हुआ करो,
थोड़े बुरे जरूर है पर बेवफा नही.,

 

मेरा गुस्सा वहां पर ख़त्म हो जाता है जहां,
प्यार से वो पगली बोलती है अच्छा बाबा सॉरी.,

 

 

आज दिल कर रहा था बच्चों की तरह रूठ जाऊ,
पर फिर सोचा क्या फायदा मनाएगा कौन.,

 

गुस्सा इतना है कि तुमसे कभी बात भी न करू,
फिर भी दिल में तेरी फ़िक्र खुद से ज्यादा है.,

 

रूठ जाओ कितना पर मना लेंगे,
दूर जाओ कितना भी बुला लेंगे,
दिल आखिर दिल हैं कोई सागर की रेत तो नहीं,
जो लिख के नाम आपका मित देंगे.,

 

तुम्हे गुस्सा करने का हक़ है मुझ पर नाराजगी में,
ये मत भूल जाना कि हम बहुत प्यार करते है तुमसे.,

 

छोटी छोटी बातें दिल में रखने से,
बड़े बड़े रिश्ते कमजोर हो जाते हैं.,

 

गुस्सा आना सबके लिए जरूरी है,
पर गुस्सा निकालना कहा है ये समझना जरूरी है.,

 

गुस्सा न करो इतना कि वो शिकायत बन्न जाये,
रहो न दूर इतना के हम अकेले हो जाये,
दुनिया का एक रिवाज हमे भी पता है,
प्यार न करो किसीसे इतना की वो जरुरत बन जाये.,

 

नाराज क्यूँ होते हो किस बात पे हो रूठे,
अच्छा चलो ये माना तुम सच्चे हम ही झूठे,
कब तक छुपाओगे तुम हमसे हो प्यार करते,
गुस्से का है बहाना दिल में हो हम पे मरते.,

 

नाराज मत हुआ करो कुछ अच्छा नहीं लगता है,
तेरे हसीन चेहरे पर यह गुस्सा नहीं सजता है,
हो जाती है कभी कभी गलती माफ कर दिया करो,
चाहने वालों से बेदर्दी यह नुस्खा नहीं जचता है.,

 

Conclusion

यही सभी Gussa Shayari आप सभी को काफी पसंद आई होंगी अगर नहीं तो आप हमे कमेन्ट मे बताए हम अपने अगले पोस्ट व  Hindi Shayari मे कुछ अच्छा सुधार करेंगे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.