Janmashtami Shayari – दोस्तों अगर आप इस जन्माष्टमी को अपने दोस्तों को सुभकामनाए भेजना चाहते हो लेकिन आपके पास कोई ऐसी अच्छी जन्माष्टमी शायरी नहीं है। तब आप हमारी इस पोस्ट मे लिखी हुई शायरी को अपने दोस्तों को शेयर कर सकते हो यह भले ही एक शायरी है। लेकिन इन शायरी को पढ़ने के बाद सभी लोगों आपकी इस Janmashtami Shayari को बहुत अधिक पसंद करेंगे।

इस लिए आप इस जन्माष्टमी को हमारी इस पोस्ट की Janmashtami Shayari को अपने दोस्तों को शेयर करे साथ मे आप इन्हे खुद भी पढे ताकि आप अपने काम मे कुछ परिवर्तन ल सके।

यह जन्माष्टमी का पर्व कोई साधारण पर्व नहीं इसे मनाने के लिए बहुत से लोग मानो कितने लोग अपना सब कुछ छोड़ कर अपने घर पर श्री कृष्ण जी के जन्म उत्सव की तैयारी करते है। इस पर्व पर सभी लोग अपने घर को सजाते और फिर घर पर भजन कीर्तन करके भगवान के जन्म का स्वागत करते है।

इस लिए आप सभी इन Krishna Janmashtami Shayari को जरूर पढे और अपने दोस्तों को भी यह शेयर करे तो आइए सुरू करे पढ़ना इन सभी Janmashtami Shayari को।

 

Janmashtami Shayari in Hindi

अब आपको हम कुछ ऐसे Janmashtami Shayari in Hindi पढ़ाने जा रहे जो आपको बेहद पसंद आने वाली है इन Janmashtami Shayari Hindi को आप अपने दोस्तों को भी भेज सकते है।

 

माखन का कटोरा, मिश्री का की थाल,

मिट्टी की खुशबू और बारिश की फुहार,

जहा है राधा की उम्मीदे, और कान्हा का प्यार,

मुबारक हो आपको कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार.,

 

उसकी हर बात है निराली,

जिसके नाम लेने से आये जीवन में खुशहाली,

वृन्दावन का है वो कन्हैया,

जिसकी गोपिया है दीवानी.,

 

कन्हैया की महिमा कन्हैया का प्यार,
कन्हैया में श्रद्धा कन्हैया से संसार,
मुबारक हो आपको जन्माष्टमी का त्यौहार.,

 

आला आला गोविंदा आला बाल ग्वालों ने शोर मचाया है,

झूम उठे हैं सब ख़ुशी में, देखो मुरली वाला आया है,

कृष्णा जन्माष्टमी की शुभकामनाये.,

 

शोदा का लाल, देते उसको सब दुलार,
माखन खाने की करता सबसे मनुहार,
गोपियों संग करता नित-नई लीला अपार,
कृष्णा जन्माष्टमी लाये आपके जीवन में बहार.,

 

janmashtami shayari

 

लोगो की रक्षा करने,
एक उंगली पर पहाड़ उठाया,
उसी कन्हैय्या की याद दिलाने,
जन्माष्टमी का पावन दिन आया.,

 

श्री कृष्ण के कदम आपके घर आये,
आप खुशियों के दीप जलाएँ,
परेशानी आपसे आँखे चुराएँ,
हर संकट दूर हो जाए.,

 

गोकुल में जिसने किया निवास,
उसने गोपियों के संग रचा इतिहास,
देवकी-यशोदा जिनकी मैया,
ऐसे है हमारे कृषण कन्हैया.,

 

कृष्णा जिनका नाम, गोकुल जिनका धाम ,
ऐसे श्री कृष्णा भगवान् को हम सब का प्रणाम,
जन्माष्टमी की हार्दिक शुभ कामनाएँ.,

 

नन्द के घर आनंद ही आनंद भयो,
जो नन्द के घर गोपाल आयो,
जय हो मुरलीधर गोपाल की,
जय हो कन्हिया लाल की.,

 

Gulab Shayari 

 

माखन चुराकर जिसने खाया,
बंसी बजाकर जिसने नचाया,
ख़ुशी मनाओ उनके जन्मदिन की,
जिसने दुनिया को प्रेम का रास्ता दिखाया.,

 

माखन चोर नन्द किशोर,
बांधी जिसने प्रीत की डोर,
हरे कृष्ण हरे मुरारी,
पूजती जिन्हें दुनिया सारी,
आओ उनके गुण गायें,
सब मिल के जन्माष्टमी मनायें.,

 

राधे-राधे जपो चले आएंगे बिहारी,
आएंगे बिहारी चले आएंगे बिहारी.,

 

बाल रूप है सब को भाता माखन चोर वो कहलाया है,
आला आला गोविंदा आला बाल ग्वालों ने शोर मचाया है,
झूम उठे हैं सब ख़ुशी में, देखो मुरली वाला आया है.,

 

कण-कण में है वो, जीवन के हर रंग में है वो,
अंग-अंग में हैं वो, हर व्यक्ति के संग में हैं वो,
कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ.,

 

janmashtami in hindi shayari

 

प्रेम से श्री कृष्ण का नाम जपो,
दिल की हर इच्छा पूरी होगी,
कृष्ण आराधना में लीन हो जाओ,
उनकी महिमा जीवन खुशहाल कर देगी.,

 

कृष्णा तेरी गलियों का जो आनंद है,
वो दुनिया के किसी कोने में नहीं,
जो मजा तेरी वृंदावन की रज में है,
मैंने पाया किसी बिछौने में नहीं.,

 

बांके बिहारी का नाम लो सहारा मिलेगा,
ये जीवन न तुमको दुबारा मिलेगा,
डूब रही अगर कश्ती मझधार में,
कृष्णा के नाम से सहारा मिलेगा.,

 

चन्दन की खुशबु रेशम का हार,
सावन की सुगंध और बारिश की फुहार,
राधा की उम्मीद को कन्हैया का प्यार,
मुबारक हो आप सबको जन्मआष्ट्मी का त्योहार.,

 

मिश्री से मीठे नन्द लाल के बोल,
इनकी बातें हैं सबसे अनमोल,
जन्माष्टमी के इस पावन अवसर पर,
दिल खोल के जय श्री कृष्ण बोल.

 

Exam Shayari

 

राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आएंगे,

एक बार आ गए तो कभी नहीं जायेंगे.,

कान्हा को राधा ने प्यार का पैगाम लिखा,

पूरे खत में सिर्फ कान्हा-कान्हा नाम लिखा.,

 

पलके झुका के नमन करे,
मस्तक झुका के वंदना करे,
ऐसी नज़र दे दे मेरे कान्हा,
जो बंद होते ही आपके दीदार करे.,

 

आओ मिलकर सजाए नन्दलाल को,

आओ मिलकर करें उनका गुणगान,

जो सबको राह दिखाते हैं,

और सबकी बिगड़ी बनाते हैं.,

 

माखन चुराकर खाया जिसने,

बंसी बजाकर नचाया जिसने,

प्रेम का रास्ता दिखाया जिसने,

उसके जन्मदिन की खुशी मनाओ.,

 

janmashtami shayari in hindi

 

कन्हैया की महिमा कन्हैया का प्यार,

कन्हैया में श्रद्धा कन्हैया से संसार,

मुबारक हो आपको जन्माष्टमी का त्यौहार.,

 

पल पल हर पल तुमको पुकारू,
जनम जनम से बाट निहारु,
कर दे कृपा तोपे तन मन वारू,
अपने बाग का फूल समझ कर,
प्रेम करो कृष्णा प्रेम करो कृष्णा.,

 

मेरा आपकी कृपा से, सब काम हो रहा है,
करते हो तुम कन्हैया, मेरा नाम हो रहा है,
पतवार के बिना हे मेरी नाव चल रही है,
बस होता रहे हमेशा जो कुछ भी हो रहा हैं.,

 

सबको नाच नचाये प्यारे कान्हा का गान,
दिल को मोहित कर दे मुरली की मीठी तान,
राधा संग रास रचाए कृष्णा हर रात,
तभी तो रहती हर होठों पर कृष्णा की बात.,

 

कृष्णा तेरी गलियों का जो आनंद है,
वो दुनिया के किसी कोने में नहीं,
जो मजा तेरी वृंदावन की रज में है,
मैंने पाया किसी बिछौने में नहीं.,

 

Krishna Janmashtami Shayari

दोस्तों अब आपको हम कुछ अच्छी श्री कृष्ण भगवान के लिए Krishna Janmashtami Shayari आपको पढ़ाने जा रहे जिसे आप जरूर पढे ताकि आपको यह शायरी पसंद आए और आप इनको अपने दोस्तों को भी भेज सके।

 

 

मुझे अपना बना ले रे कान्हा,
तेरे बिन मुझे कहाँ और जाना,
ना सता मुझे और अब गोविन्द लाला,
मेरी तो ज़िद्द है के मर जाना या बस तुझे पाना.,

 

माखन का कटोरा, मिश्री का थाल,
मिटटी की खुशबु, बारिश की फुहार,
राधा की उम्मीद कन्हैया का प्यार,
मुबारक हो आपको जन्माष्टमी का त्यौहार.,

 

गाय का माखन, यशोधा का दुलार,
ब्रह्माण्ड के सितारे कन्हैया का श्रृंगार,
सावन की बारिश और भादों की बहार,
नन्द के लाला को हमारा बार-बार नमस्कार.,

 

मिश्री से मीठे नन्द लाल के बोल,
इनकी बातें हैं सबसे अनमोल,
जन्माष्टमी के इस पावन अवसर पर,
दिल खोल के जय श्री कृष्ण बोल.,

 

माखन चुराकर जिसने खाया,
बंसी बजाकर जिसने नचाया,
ख़ुशी मनाओ उनके जन्म दिन की,
जिन्होंने दुनिया को प्रेम का रास्ता दिखाया.,

 

 

नटखट कान्हा आये द्वार,
लेकर अपनी बांसुरी साथ,
मोर मुकुट सर पर सोहे,
और आँखों में काजल की धार,
मुबारक हो आप सबको.,

 

देखो फिर कृष्ण जन्माष्टमी आयी हैं,
माखन की हांडी ने फिर मिठास बड़ाई हैं,
कान्हा की लीला हैं सबसे प्यारी,
वो दे तुम्हे दुनिया भर की खुशिया सारी.,

 

गाय का माखन, यशोधा का दुलार,
ब्रह्माण्ड के सितारे कन्हैया का श्रृंगार,
सावन की बारिश और भादों की बहार,
नन्द के लाला को हमारा बार-बार नमस्कार.,

 

कन्हैया की महिमा कन्हैया का प्यार,
कन्हैया में श्रद्धा कन्हैया से संसार,
मुबारक हो आपको जन्माष्टमी का त्यौहार.,

 

माखन का कटोरा, मिश्री का थाल,
मिटटी की खुशबु, बारिश की फुहार,
राधा की उम्मीद कन्हैया का प्यार,
मुबारक हो आपको जन्माष्टमी का त्यौहार.,

 

दिया जन्म देवकी माँ ने और यशोदा ने पाला,
दो माँओ का बना लाडला ये मेरा नंदलाला.,

 

माखन चोर नन्द किशोर,
बांधी जिसने प्रीत की डोर,
हरे कृष्ण हरे मुरारी,
पूजती जिन्हें दुनिया सारी,
आओ उनके गुण गाएं,
सब मिल के जन्माष्टमी मनाये.,

 

माखन चुराकर खाया जिसने,
बंसी बजाकर नचाया जिसने,
प्रेम का रास्ता दिखाया जिसने,
उसके जन्मदिन की खुशी मनाओ.,

 

आओ मिलकर सजाए नन्दलाल को,
आओ मिलकर करें उनका गुणगान,
जो सबको राह दिखाते हैं,
और सबकी बिगड़ी बनाते हैं.,

 

कृष्णा तेरी गलियों का जो आनंद है,
वो दुनिया के किसी कोने में नहीं,
जो मजा तेरी वृंदावन की रज में है,
मैंने पाया किसी बिछौने में नहीं.,

 

 

माखन का कटोरा, मिश्री का थाल,
मिट्टी की खुशबू, बारिश की फुहार,
राधा की उम्मीदें, कृष्ण का प्यार,
मुबारक हो आपको, जन्माष्टमी का त्यौहार.,

 

देखो फिर जन्माष्टमी आयी है,
माखन की हांडी ने फिर मिठास बढ़ाई है,
कान्हा की लीला है सबसे प्यारी,
वो दे तुम्हें दुनिया की खुशियाँ सारी.,

 

माखन का कटोरा, मिश्री का थाल,
मिट्टी की खुशबू, बारिश की फुहार,
राधा की उम्मीदें, कृष्ण का प्यार,
मुबारक हो आपको, जन्माष्टमी का त्यौहार.,

 

गोकुल में है जिनका वास,गोपियों संग रचाए जो रास,
देवकी यसोदा जिनकी मैया, ऐसे है हमारे कृष्ण कन्हैया.,

 

कृष्णा जिनका नाम गोकुल जिनका धाम,
श्री कृष्णा भगवान् को हम सब का प्रणाम,
जन्माष्टमी की हार्दिक शुभ कामनाएँ.,

 

माखन का कटोरा, मिश्री का थाल,
मिट्टी की खुशबू, बारिश की फुहार,
राधा की उम्मीद कन्हैया का प्यार,
मुबारक हो आपको जन्माष्टमी का त्यौहार.,

 

पलकें झुकें, और नमन हो जाए,
मस्तक झुके, और वंदन हो जाए,
ऐसी नज़र, कंहाँ से लाऊँ, मेरे कन्हैया,
कि आपको याद करूँ और आपके दर्शन हो जाए.,

 

प्रेम से कृष्णा का नाम जपो,
दिल की हर इच्छा पूरी होगी.,
कृष्णा आराधना में इतना लीन हो जाओ,
उनकी महिमा, जीवन खुशहाल कर देगी.,

 

गाय का माखन, यशोधा का दुलार,
ब्रह्माण्ड के सितारे कन्हैया का श्रृंगार,
सावन की बारिश और भादों की बहार,
नन्द के लाला को हमारा बार-बार नमस्कार.,

 

राधा की चाहत है कृष्णा,
उसके दिल की विरासत है कृष्णा,
चाहें कितना भी रास रचा ले कृष्णा,
दुनिया तो फिर भी कहती है.,

 

राधे जी का प्रेम, मुरली की मिठास.
माखन का स्वाद, गोपियों का रास.
इन्ही से मिलके बनता है जन्माष्टमी का दिन ख़ास.,

 

कान्हा तुझे ख्वाबों में पाकर दिल खो ही जाता हैं,
खुदको जितना भी रोक लू, प्यार हो ही जाता हैं.,

 

जिस पर राधा को मान हैं, जिस पर राधा को गुमान हैं,
यह वही कृष्ण हैं, जो राधा के साथ हर जगह विराजमान हैं.,

 

मुझको मालूम नहीं अगला जन्म हैं की नहीं,
ये जन्म प्यार में गुजरे ये दुआ मांगी हैं.,
और कुछ मुझे जमाने से मिले या ना मिले,
ए मेरे कान्हा तेरी मोहब्बत ही सदा मांगी हैं.,

 

राधा के सच्चे प्रेम का यह ईनाम हैं,
कान्हा से पहले लोग लेते राधा का नाम हैं.,

 

Conclusion

यही सभी Janmashtami Shayari आप सभी को काफी पसंद आई होंगी अगर नहीं तो आप हमे कमेन्ट मे बताए हम अपने अगले पोस्ट व  Hindi Shayari मे कुछ अच्छा सुधार करेंगे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.