Mohabbat Shayari – दोस्तों आप सभी की काभी न काभी किसी से एक बार के लिए ही लेकिन प्यार जरूर हुआ होगा। क्योंकि हमार दिल बहुत नादान होता है यह काभी भी यह नहीं समझता की जिससे यह प्यार कर बैठ उसको पाना नामुमकिन स होता है।

इसी लिए आज हम आपको कुछ Mohabbat Shayari सुनाएंगे क्योंकि अगर आप किसी से महहोंबत करते हो तो आप उसके बारे मे भी जरूर सोचते होंगे। इस लिए हम आपकी इस सोच को एक अच्छे से प्यार मे बदल देंगे वो भी इस Mohabbat Bhari Shayari की मदद से।

अगर आप को यह Mohabbat Ki Shayari आपके मूड को बदलने मे मदद करे तो आप इसे जरूर पढे क्योंकि यह कोई ऐसी वैसी शायरी नहीं बल्कि सभी मोहोबत शायरी मे बीच से निकली हुई कुछ खास शायरी है।

जो आपके मन को बदलने मे बहुत मदद करेगी इस लिए आप इसे एक बार जरूर पढे ताकि आप अपनी प्यारी सी सोच को एक अहसास मे बदल सको।

Mohabbat Shayari in Hindi

अब आपको हम कुछ अच्छे Mohobbat Shayari in Hindi मे पढ़ायाएंगे इसमे आपको सभी शयरियों के बीच से निकली गई एक दम खास शायरी आपके लिए प्रस्तुत की गई है। जो हम आशा करेंगे की आपको वह काफी पसंद भी आएंगी तो आइए एक नजर डालते है इन Mohobbat Ki shayari की तरफ। 

 

उसके चेहरे पर इस क़दर नूर था,

कि उसकी याद में रोना भी मंज़ूर था,

बेवफा भी नहीं कह सकते उसको ज़ालिम,

प्यार तो हमने किया है वो तो बेक़सूर था.,

 

खूबसूरत सा एक पल किस्सा बन जाता है,

जाने कब कौन ज़िंदगी का हिस्सा बन जाता है,

कुछ लोग ज़िंदगी में मिलते हैं ऐसे,

जिनसे कभी ना टूटने वाला रिश्ता बन जाता है.,

 

वो जिस दिन करेगा याद मेरी मोहब्बत को,

रोयेगा बहुत खुद को बेवफा कह कर.,

 

कुछ यूँ उतर गए हो मेरी रग-रग में तुम,

कि खुद से पहले एहसास तुम्हारा होता है.,

 

जब नफ़रत करते करते थक जाओ,

तो एक मौका प्यार को भी दे देना.,

 

ज़ब खामोश आँखों से बात होती है,

ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,

 

ishq mohabbat shayari

 

तुम्हारे ही खयालो में खोये रहते है,

पता नहीं कब दिन कब रात होती है.,

 

तुम हमसे दूर भी हो और पास भी,

मेरी हसी हो और आँसू  भी,

 तुम मन की शांति हो और बैचेनी भी,

 तुम मेरी अमानत हो और सपना भी.,

 

 दर्द की बारिशों में हम अकेले ही थे ऐ दोस्त,
जब बरसी ख़ुशियाँ न जाने भीड़ कहां से आ गयी.,

 

सब कुछ है लेकिन तेरे अलफाज नही,
बिन तेरे अलफाज के कोई साज नही.,

 

 तमाशा न बना मेरी मोहब्बत का,
कुछ तो लिहाज़ कर अपने किए वादों का.,

 

 कोई नही आऐगा मेरी जिदंगी मे तुम्हारे सिवा,
एक मौत ही है जिसका मैं वादा नही करता.,

 

तेरी तो फितरत थी सबसे मुहब्बत करने की,
हम तो बेवजह खुद को खुशनसीब समझने लगे.,

 

 लिखना तो था के हम खुश है उसके बिना,
मगर आसू निकल पड़े कलम उठाने से पहले.,

 

 क्यूँ दुनिया वाले प्यार को,
ईश्वर का दर्जा देते है,
मैंने तो आज तक नहीं सुना कि,
ईश्वर ने बेवफ़ाई की हो.,

 

 उन्होंने बस महबूब ही तो बदला है,
इसका गिला क्या करना,
लोग दुआ कुबूल न हो तो,
खुदा तक बदल देते हैं.,

mohabbat shayari

 

 औरत अगर रिश्ता निभाना चाहे तो,
झोपड़ी में भी खुश रहती है,
लेकिन औरत रिश्ता न निभाना चाहे तो,
महलों को भी ठुकरा देती है.,

 

 ये ज़रूरी तो नही ना कि,
जिनके दिल में प्यार हो,
उनकी किस्मत में भी प्यार हो.,

 

 एक बात हमेशा याद रखना,
दुनिया में तुम्हे मेरे जैसे बहुत मिलेंगे,
लेकिन उनमे तुम्हे हम नही मिलेंगे.,

 

 मेरी किस्मत में तो कुछ यूँ लिखा है किसी ने,
वक्त गुज़ारने के लिए अपना बनाया,
तो किसी ने अपना बनाकर वक्त गुजार लिया.,

 

रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ,

आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिए आ.,

 

Mohabbat Shayari Hindi

अब आइए हम आपको कुछ Mohabbat Shayari Hindi भी आपके लिए लेकर आए है जिसमे आपको ऐसी वैसे शायरी नहीं बल्कि हिन्दी की सबसे अच्छी मोहोबत शायरी आपके लिए लाए है जिसे आपको जरूर पढ़ना चाहिए। 

 

जब ख़ामोश निगाहों से बात होती है,
इसी से तो प्यार की शुरुआत होती है,
आपकी यादों में खोए रहते हैं हम दिन भर,
ना जाने कब दिन और कब रात होती है.,

 

समुंदर से निकलकर हमें एक किनारा मिला है,
ज़िन्दगी जीने के लिए फिर से एक सहारा मिला है,
बड़ी ही उलझनों में फँसी थी जो ज़िन्दगी,
उस ज़िन्दगी में अब साथ प्यारा मिला है.,

 

मैंने जान बचा के रखी है एक जान के लिए,
इतना इश्क  कैसे हो गया एक अनजान के लिए.,

 

मोहब्बत उसको मिलती हे जिनका नसीब होता हे,
बहोत कम हातो मे ये मोहब्बत की लकीर होती हे.,

 

कोन जाने कब मौत का पैगाम आ जाए,
ज़िंदगी की आखरी शाम आ जाए,
हमे तो इंतजार है उस शाम का,
जब हमारी ज़िंदगी किसी के काम आ जाए.,

mohabbat shayari in hindi

अगर देखनी है कयामत तो चले आओ हमारी महफिल मे,
सुना है आज की महफिल मे वो  आ रहे है,
जिन्हें फुरसत नहीं मिलती जरा भी याद करने की,
उन्हें कह दो हम उनकी याद में फुरसत से बैठे है.,

 

कसूर तो बहुत किए ज़िन्दगी में,
मगर सज़ा वहा मिली जहां बेकसूर थे हम.,

 

कभी कभी किसी अपने की इतनी याद आती हैं,
कि रोने के लिए रात भी कम पड़ जाती हैं.,

 

पागल उसने कर दिया, एक बार देखकर,
मै कुछ भी ना कर सका लगातार देखकर.,

 

मुझको चाहते होंगेऔर भी बहुत लोग,
मगर मुझे मोहब्बत सिर्फ अपनी मोहब्बत से है.,

 

अदा है ख्वाब है तस्कीन है तमाशा है.
मेरी इन आँखों में एक शख्स बेतहाशा है.,

 

अगर तुम्हे पा लेना ही मोहब्बत थी,
तो शायद मैंने मोहब्बत की ही नहीं थी,
मुझे तो सिर्फ तुम्हारी ख़ुशी चाहिए थी,
इसलिए तो जाने दिया तुम्हे बेवफा सनम.,

 

न जाने क्या मासूमियत है तेरे चेहरे पर,
तेरे सामने आने से ज्यादा,
तुझे छुपकर देखना अच्छा लगता है.,

 

वो पूछते हैं हमसे कि क्या हुआ है,
कैसे बताएं उन्हें कि उन्हीं से इश्क हुआ है.,

 

इश्क तुझसे करती हूं मैं जिन्दगी से ज्यादा,
मैं डरती नहीं मौत से तेरी जुदाई से ज्यादा,
चाहे तो आजमा ले मुझे किसी और से ज्यादा,
मेरी जिन्दगी में कुछ नहीं तेरी मोहब्बत से ज्यादा.,

 

mohabbat shayari in hindi

 

अगर भूले  से कभी हमारी याद आती है,
और तन बदन में एक सहमा सी दौड जाती है .,
तो मेरे सनम तुम मेरे पास चले आना,
अगर सूनी सूनी रातें तुम्हें बहुत सताती हो.,

 

 जो कुछ भी मिला है उसी में खुश हूं,
मैं तेरे लिए खुदा से तकरार नहीं करती,
 पर कुछ तो बात है तेरी फितरत में जालिम,
वरना तुझे चाहने की खता बार बार नहीं करते.,

 

सुकून मिलता है जब उनसे बात होती है,
हजार रातों में वो एक रात होती है,
निगाह उठाकर जब देखते हैं वो मेरी तरफ,
मेरे लिए वही पल पूरी कायनात होती है.,

 

मेरे वजूद में काश तू उतर जाए,
मैं देखू आईना और तू नजर आए,
तू हो सामने और ये वक्त ठहर जाए,
और ये जिंदगी तुझे देखते हुए गुजर जाए.,

 

हसरत है सिर्फ तुम्हें पाने की,
और कोई ख्वाहिश नहीं इस दीवाने की,
शिकवा मुझे तुमसे नहीं खुदा से है,
क्या जरूरत थी तुम्हें इतना खूबसूरत बनाने की.,

 

किसी को फूलों से मोहब्बत है,
तो किसी को काँटों से मोहब्बत है,
हम तो बस उनसे मोहब्बत करते हैं,
जिन्हे हमसे मोहब्बत है.,

 

खुदा करे कि एक ऐसा दिन आ जाए हम तुम्हारी बाहों में खो जाएँ,
सिर्फ हम हो और तुम हो और समय वही सो जाए.,

 

किसी और की तरफ हमनें नज़र को उठाकर देखा भी नहीं,
किसी और का नाम हमारी जुबां पर कभी आता नहीं,
ना कभी किसी और के बारे में सोचा कभी,
और उन्हें लगता है कि हमें प्यार करना आता ही नहीं.,

 

कभी गुजरो दिल की चौखट से तो बता देना,
यह भी मोहब्बत करने की एक अदा होती है.,

 

जब खामोश निगाहों से बात होती है,
इसी से तो प्यार की शुरुआत होती है,
आपकी यादों में खोये रहते हैं हम दिन भर,
ना जाने कब दिन और कब रात होती है.,

 

mohabbat shayari

 

किसी ना किसी को किसी एक पर ऐतबार हो जाता है,
एक अनजान चेहरा ही ख़ास हो जाता है,
सिर्फ खूबियों से ही नहीं होता ये इश्क़ दोस्तों,
कभी-कभी किसी की कमियों से भी प्यार हो जाता है.,

 

 दोनों जानते हैं हम नहीं हैं एक दूसरे के नसीब में पर,
 दिन भी दिन मोहब्बत बेपनाह होते जा रही है.,

 

भरी महफिल में पूछा गया प्यार क्या है लोग किताबों,
में ढूंढने लगे और हमारी नजर तुम पर जा टिकी.,

 

पास होते तो लव चूंकि जगाते आपको रखकर दिल पर हाथ धड़कन सुनाते हैं,

आपको जो आप सुकून की आरजू रखते सर सीने पर और सुलाते आपको.,

 

खफा भी रहते हैं और वफ़ा भी करते हैं,
इस तरह वो अपने प्यार को ब्यान भी करते हैं,
जाने कैसी नाराज़गी है उनको हमसे,
पाना भी नहीं चाहते और खोने से भी डरते हैं.,

 

Mohabbat Bhari Shayari

इसमे हम आपको कुछ स्पेशल Mohobbat Bhari Shayari आपके लिए लाए है जिसे आपको एक बार पढ़ना चहाइए क्योंकि अगर आप Mohabbat Shayari खोज रहे तो उसमे आप इन शायरी को भी एक बार जरार पढे। 

 

ज़रूरते भी ज़रूरी हैं, जीने के लिए,
लेकिन तुझसे ज़रूरी तो, ज़िन्दगी भी नहीं.,

 

खुला आसमान दे देना इश्क़ है,
कैद कर लेने की ज़िद इश्क़ नहीं.,

 

सुनो उम्र ना पूछना हमसे कभी,
हम इश्क़ हैं, हमेशा जवान रहते है.,

 

तुझे चाहते हैं बेइंतहा, पर चाहना नहीं आता,
यह कैसी मोहब्बत है, के हमें कहना नहीं आता.,


ज़िन्दगी में आ जाओ हमारी ज़िन्दगी बनकर,
के तेरे बिना हमें ज़िंदा रहना नहीं आता.,

 

mohabbat shayari

 

कुछ हदें हैं मेरी, कुछ हदें हैं तेरी,
लेकिन दायरों में भी इश्क़ होता है.,

 

कोई तुझसा मेरे रु-बा-रु न हुआ,
जो इश्क़ तुझसे था वो हु-बा-हु ना हुआ.,

 

वो मोहब्बत जो तुम्हारे दिल में है,
उसे ज़ुबान पर लाओ और बयां कर दो,
आज बस तुम कहो और कहते ही जाओ,
हमे बस सुने ऐसे बे–ज़ुबान कर दो.,

 

मुझे क़बूल है हर दर्द हर तकलीफ़ तेरी चाहत में,
सिर्फ़ इतना बता दे क्या तुझे मेरी मोहब्बत क़बूल है.,

 

मैं ने सब कुछ नज़रअंदाज़ किया है,
वरना तुम तो मुझे कब का खो देते.,

 

जब तक ना लगे बेवफाई की ठोकर ए दोस्त,
हर किसी को अपनी पसंद पर नाज़ होता है.,

 

कभी अलफ़ाज़ भूल जाऊ कभी ख्याल भूल जाऊ,
तुझे इस कदर चाहू के अपनी सांस भूल जाऊ,
उठ कर तेरे पास से जो मैं चल दूँ ,
तो जाते हुए खुद को तेरे पास भूल जाऊ.,

 

उसके इंतज़ार के मारे हैं हम,
बस उसकी यादों के सहारे हैं हम,
दुनिया जीत के क्या करना है अब,
जिसे दुनिया से जीतना था, आज उसी से हारे है हम.,

 

गुज़र जाते हैं खूबसूरत लम्हें यूं ही मुसाफिरों की तरह,
यादें वहीं खडी रह जाती हैं रूके रास्तों की तरह.,

 

किसी के प्यार को पा लेना ही,
मोहब्बत नहीं होती है,
किसी के दूर रहने पर उसको ,
पल पल याद करना भी मोहब्बत होती है.,

 

 

मुहब्बत की इन्तिहां न पूछिये,
इस प्यार की वजह न पूछिये,
हर सांस मे समाये रहते हो,
कहां बसे हो तुम जगह न पूछिये.,

 

अगर हमने तुम्हे न देखा होता तो,
शायद ये राज़ ही रह जाता,
कि मोहब्बत कैसी होती है.,

 

कमाल की मोहब्बत थी,
मुझसे उसको अचानक ही,
शुरू हुई और बिना बताये ही खत्म हो गई.,

 

तुम्हें कितनी मोहब्बत है मालूम नहीं,
मुझे लोग आज भी तेरी कसम दे कर मना लेते है.,

 

दीवाना उस ने कर दिया एक बार देख कर,
हम कर सकेन कुछ भी लगातार देख कर.,

 

मोहब्बत से मोहब्बत हो गयी,
जब से दिल पे तेरी दस्तक हो गयी.,
एक अनजानी – सी ख़ुशी होती है,
जब तू मेरे दिल के करीब होती है.,

 

दिल की लगी दिल में रह जाती है,
कुछ मोहब्बतों की कहानी अधूरी रह जाती है.,

 

जरुरत समझो या आदत तुम ही हो,
मेरी पहली और आखिरी मोहब्बत.,

 

खत्म कर दी थी जिन्दगी की हर खुशियाँ तुम पर,

कभी फुर्सत मिले तो सोचना मोहब्बत किस ने की थी.,

 

तू मोहब्बत है मेरी इसीलिए दूर है मुझसे,

अगर जिद होती तो शाम तक बाहों में होती.,

 

 

याद रखते हैं हम आज भी उन्हें पहले की तरह,

कौन कहता है फासले मोहब्बत की याद मिटा देते हैं.,

 

मोहब्बत की दास्ताँ लिखने का हुनर तो आ गया मुझमे,

पर महबूब को मनाने मेंअब भी नाकाम हूँ मैं.,

 

इस अँग्रेजी की ”लव” वाली दुनिया में,

मेरी उर्दू की ‘मोहब्बत’ को वो समझ ना सका.,

 

मोहब्बत वहाँ होती है जहाँ विश्वास होता है,

शक की बुनियाद से ही मोहब्बत बरबाद होती है.,

 

Mohabbat Ishq Shayari

अब आइए हम सब मिल कर नजर डालते है कुछ Mohabbat Ishq Shayari पर क्योंकि जब  तक महोबत मे इश्क  न हो तब तक सब बेकार है इस लिए इस  Mohobbat Shayari के साथ – साथ इन इश्क वाली शायरी को भी जरूर पढे। 

 

लफ़्ज़ों से कहाँ लिखी जाती है ये बेचैनियां मोहब्बत की,

मैंने तो हर बार दिल की गहराईयो से पुकारा है तुम्हे.,

 

सुना था मोहब्बत मिलती है मोहब्बत के बदले,

जब हमारी बारी आयी तो रीवाज ही बदल गया.,

 

ऐ मोहब्बत, तुझे पाने की कोई राह नहीं,

तू तो उसे ही मिलेगी जिसे तेरी परवाह नहीं.,

 

वो जिस दिन करेगा याद मेरी मोहब्बत को,

रोयेगा बहुत खुद को बेवफा कह कर.,

 

मुहब्बत में झुकना कोई अजीब बात नहीं,

चमकता सूरज भी तो ढल जाता है चाँद के लिए.,

 

कितनी छोटी सी है ये जन्नत मेरी,

एक मैं हूँ और एक महोब्बत मेरी.,

 

 

मुहब्बत तो दिल देकर, की जाती है मेरे दोस्तों,

चेहरा देखकर तो लोग,सिर्फ सौदा करते हैँ,

मोहब्बत और भी बढ़ जाती है जुदा होने से,

तुम सिर्फ मेरे हो इस बात का ख्याल रखना.,

 

वो वक़्त वो लम्हे कुछ अजीब होंगे, 

दुनिया में हम खुश नसीब होंगे,
दूर से जब इतना याद करते है आपको, 

क्या होगा जब आप हमारे करीब होंगे.,

 

कभी-कभी तुम्हारी सिर्फ एक झलक देख लेने से ही इतना,

सुकून मिलता है की मन करता सारा दिन बस देखते ही रहे.,

 

किसी और की तरफ हमनें नज़र को उठाकर देखा भी नहीं,
किसी और का नाम हमारी जुबां पर कभी आता नहीं,
ना कभी किसी और के बारे में सोचा कभी,
और उन्हें लगता है कि हमें प्यार करना आता ही नहीं.,

 

मुझे आजमाने वाले शख्स तेरा शुक्रिया,

मेरी काबिलियत निखरी है तेरी हर आजमाइश के बाद.,

 

उतर के देख मेरी चाहत की गहराई मै,

सोचना मेरे बारे मै रात की तन्हाई में,

अगर हो जाए मेरी चाहत का एहसास तुम्हे,

तो मिलेगा मेरा अक्स तुम्हे अपनी ही परछाई मे.,

 

चाहे पूछ लो सवेरे से या शाम से,

ये दिल धड़कता है बस तेरे नाम से.,

 

गज़ब की बेरुख़ी छाई हे तेरे जाने के बाद,

अब तो सेल्फ़ी लेते वक़्त भी मुस्कुरा नही पाते.,

 

प्यार करने वालों की किस्मत बुरी होती है,
हर मिलन जुदाई से होती है,
रिस्तो को कभी परख कर देखना,
दोस्ती हर रिश्ते से बड़ी होती है.,

 

प्यार मै कोइ तो दील तोड देता है,

दोस्ती मेँ कोइ तो भरोसा तोड देता है,

जीन्दगी जीना तो कोइ गुलाब से सीखे,

जो खुद टुट कर दो दीलो को जोड देता हैँ.,

 

उन्होंने वक़्त समझकर गुज़ार दिया हमको,

और हम उनको ज़िन्दगी समझकर आज भी जी रहे हैं.,

 

खुशबू की तरह मेरी हर साँस में, 

प्यार अपना बसाने का वादा करो, 

रंग जितने तुम्हारी मोहब्बत के हैं, 

मेरे दिल में सजाने का वादा करो.,

 

सिर्फ मूर्ख लोग ही प्रेम में पड़ते हैं, 

और उन लोगों में से एक मैं हूँ.,


तन्हाई में अकेलापन सहा जायेगा,

लेकीन महफ़िल में अकेले रहा न जायेगा,

आपका साथ न हो तो भी जी लेंगे,

पर साथ आपके कोई और हो तो सहा न जायेगा.,

 

हर पल यही सोचता रहा,
कि कहा कमी रह गयी थी मेरी चाहत में,
उसने इतनी शिदत्त से मेरा दिल तोड़ा,
कि आज तक नहीं संभल पाए.,

Conclusion

यही सभी Mohabbat Shayari आप सभी को काफी पसंद आई होंगी अगर नहीं तो आप हमे कमेन्ट मे बताए हम अपने अगले पोस्ट मे कुछ अच्छा सुधार करेंगे।

मेरे बारे मे जाने – अभिषेक शर्मा 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.