Neend Shayari | 100+ Neend Shayari Hindi with Image

Neend Shayari – इस दुनिया मे अगर कोई ऐसी चीज है जो किन कुछ पैसे लिए हमारे शरीर को स्वस्थ रखती साथ मे हमारी सभी परेशानी को दूर रखती तो वह है नींद क्योंकि हमारे पूरे दिन चर्या मे केवल जब हम चैन से नींद लेते है तब ही हमारी सभी परेशानी हमसे कुछ समय के लिए दूर हो जाती लेकिन जैसे ही हम नींद से उठते यह परेशानी फिर हमे मिल जाती है।

इस संसार मे अगर आप कुछ अच्छा करना चाहते हो तो आप सबसे पहले अपने दिमाग को स्थिर रखो और इसके लिए आप भरपूर नींद ले। आज के समय मे बहुत से लोग अपने काम के चक्कर मे भरपूर नींद नहीं लेते जिससे वह जल्दी ही रोगों से घिर  जाते और अपना स्वस्थ कहर्ब कर लेते है।

आज हम आपको यह कुछ स्पेशल Neend Shayari पढ़ाने जा रहे जिसे पहले तो आप सही से पढे और समझे की नींद क्यों जरूरी और फिर इन Neend Shayari को अपने उन दोस्तों को भी भेजे जो सही से नींद नहीं लेते।

 

Neend Shayari Hindi

अब आइए आपको यह कुछ स्पेशल Neend Shayari Hindi हम पढ़ाने जा रहे जिसे आप जरूर पढे और समझे की यह Neend Shayari आपके लिए क्यों जरूरी है।

 

तेरी पहली मुलाकात जिन्दगी में एक बहार लाई थी,
हर आईने में तेरी तस्वीर मुझे नजर आई थी,
लोग कहते हैं प्यार में नींद उड़ जाती है,
हमने तो नींदों में ही प्यार की दुनिया बनाई थी.,

 

दोस्ती बुरी हो तो होने उसे मत दो,
अगर हो गयी तो उसे खोने मत दो,
और अगर दोस्त हो सबसे प्यारा तो,
उसे चैन की नींद सोने मत दो.,

 

दोस्ती बुरी हो तो होने उसे मत दो,
अगर हो गयी तो उसे खोने मत दो,
और अगर दोस्त हो सबसे प्यारा तो,
उसे चैन की नींद सोने मत दो.,

 

रात तो क्या पूरी जिन्दगी भी,
जाग कर गुजार दूँ तेरी खातिर,
बस तू एक बार कह कर तो देख कि,
मुझे तेरे बिना नींद नही आती.,

 

दिल की किताब में गुलाब उनका था,
रात की नींदों में ख्वाब उनका था,
कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा,
मर जायेंगे तुम्हारे बिना ये जवाब उनका था.,

 

Neend Shayari

 

नींद खुली है जब से दुख रही है आंखें मेरी,
जाने कोन चला है रात भर पलकों के किनारों पर.,

 

अब नींद से कहो हम से सुलह कर ले,
वह दौर चला गया जिसके लिए हम जगह करते थे.,

 

आज फिर नींद उड़ गई ये सोचकर,
सरहद पर बहा खून मेरी नींद के लिए था.,

 

कहते है कब्र में सुकून की नींद होती है,
अजीब बात है की यह बात भी जिन्दा लोगो ने कही.,

 

नींद तो दर्द के बिस्तर पे भी आ सकती है,
उन की आग़ोश में सर हो ये ज़रूरी तो नहीं.,

 

अधूरी मोहब्बत मिल गई तो नींदे भी रूठ गई,
गुमनाम जिंदगी थी तो कितने सुकून से सोया करते थे.,

 

नींद भी नीलाम हो जाती हैं दिलों की महफ़िल में जनाब,
किसी को भूल कर सो जाना इतना आसान नहीं होता.,

 

अब सफर ज़िन्दगी ख़त्म ही समझो,
उसके बातो से जुदाई की महक आने लगी.,

 

मिलने लगता है जब किसी के साथ सकून,
फिर ये होता है की वो साथ बिछढ जाता है.,

 

जमाना बड़ी शोक से सुन रहा था,
हम ही सो गए दस्ता कहते कहते.,

 

shayari on neend

 

शोर जहाँ का एक तरफ़ है दिल का तराना एक तरफ़,
सारी दुनिया एक तरफ़ है इक दीवाना एक तरफ़.,

 

प्यार तो उस दिन हो जायेगा,
जिस दिन तेरा पासवर्ड में बन जाउंगा.,

 

याद आता है अक्सर वो गुजरा हुआ ज़माना,
तेरी मीठी सी आवाज़ में भाई कहकर बुलाना,
अब किससे छेड़छाड़ करूं मेरी बहना,
तेरी बहुत याद आती है मेरी प्यारी बहना.,

 

तड़पते है नींद के लिए तो यही दुआ निकलती है,
बहुत बुरी है मोहबत, किसी दुश्मन को भी ना हो.,

 

काश ! वो सुबह नींद से जागे तो मुझसे लड़ने आए,
कि तुम होते कौन हो मेरे ख़्वाबों में आने वाले.,

 

काश कोई एक रात ऐसी भी आ जाये,
नींद आ जाये पर तेरी याद न आये.,

 

मैं नींद में ही सही जाग तो रहा था मगर,
खुली जो आँख तो ख़्वाबों के सिलसिले टूटे.,

 

मैं नींद में ही सही जाग तो रहा था मगर,
खुली जो आँख तो ख़्वाबों के सिलसिले टूटे.,

 

नहीं चाहिए मुझे ऐसा कोई तोहफा जो मेरी उम्र बढ़ा दे,
दे दे मुझे कोई ऐसी दुआ जो मुझे चैन की नींद सुला दे.,

 

बिछड़ के वों रोंज मिलता हैं ख़्वाब नगर मे,
अगर ये नींद भी ना होंती तों हम मर गये होंते.,

 

neend shayari hindi

 

नींद को आज भी शिकवा है मेरी आँखों से,
मैंने आने न दिया उसको तेरी याद से पहले.,

 

काश वो दिन लौट आये जब नींद बड़ी बेफिक्र आती थी,
आँखें खुलती थी रोज नयी दुनिया नजर आती थीं.,

 

एक अजब फ़िराक़ से एक अजब विसाल तक,
अपने ख़याल में चला फिर मुझे नींद आ गई.,

 

खुलती नही है क्यूँ नींद रफ्तगां की,
क्या हश्र तक ये सोया पडा रहेगा.,

 

जागना भी कबूल हैं तेरी यादों में रात भर,
तेरे एहसासों में जो सुकून है वो नींद में कहाँ.,

 

Shayari on Neend

अब आइए आपको हम यह स्पेशल Shayari on Neend पढ़ाने जा रहे जिसे पढ़ने के बाद आप बहुत खुश हो जाएंगे और इसी के बाद आपको यह अहसास होगा की नींद कितना जरूरी है।

 

कौन कहता है कि तेरी मोहब्बत में मुझे कुछ ना मिला,
रातों की नींद गई रोने का वक़्त मिला.,

 

जाने कितनी रातो की नींदे ले गया वो,
जो पल भर मोहब्बत जताने आया था.,

 

नींद आँखों में आने लगी है,
रात की घटा छाने लगी है,
हर तरफ बह रही हवा,
कोई प्यारा-सा गीत गाने लगी है.,

 

बिना सोये रात गुजारता हूँ,
बस तेरी तस्वीर निहारता हूँ,
तेरे प्यार को दिल में संवारता हूँ,
और तेरे हुसन की आरती उतारता हूँ.,

 

दिल की किताब में गुलाब उनका था,
रात की नींद में ख्वाब उनका था,
कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा,
मर जायेंगे तुम्हारे बिना ये जबाब उनका था.,

 

neend nahi aati shayari

 

गम ने हसने न दिया, ज़माने ने रोने न दिया,
इस उलझन ने चैन से जीने न दिया,
थक के जब सितारों से पनाह ली,
नींद आई तो तेरी याद ने सोने न दिया.,

 

मेरे ख्वाबों का उसे कौन पता देता है,
नींद में आ के वो अक्सर ही जगा देता है.,

 

मैंने रंग दिया हर पन्ना तेरे यादों से,
मेरी किताबों से पूछ इश्क किसे कहते हैं.,

 

आरज़ू होनी चाहिए किसी को याद करने की,
लम्हे तो खुद-ब-खुद मिल जाया करते हैं.,

 

तू अगर ख़्वाब था मेरा तो बता,
क्यूं मेरी नींद से बाहर निकला.,

 

नींद तो अब भी बहुत आती है मगर,
समझा-बुझा के मुझे उठा देती हैं जिम्मेदारियां.,

 

ये कहाँ की रीत, जागे कोई, सोये कोई,
रात सबकी है, तो सबको नींद आनी चाहिये.,

 

काश उनका चेहरा आता रोज हमारे ख्वाब में,
मर जाते पर नींद से उठने की जुर्रत नहीं करते.,

 

तुम्हें नींद नहीं आती तो कोई और वजह होगी,
अब हर ऐब के लिए कसूरवार इश्क तो नहीं.,

 

तुमसे पहले भी रातें बीतती थी बिना नींद के ही,
तुम्हारे आने से इन आंखों को जागने का एक मतलब मिल गया.,

 

जाने कितनी रातो की नींदे ले गया वो,
जो पल भर मोहब्बत जताने आया था.,

 

चलो नींद के दफ्तर में हाज़िरी लगा आते हैं,
वो सपनो में आये तो ओवर टाइम भी कर लेंगे.,

 

हम नींद के शौक़ीन ज्यादा तो नहीं लेकिन,
तेरे ख्वाब न देखूं तो गुज़ारा नहीं होता.,

 

इस सफ़र में नींद ऐसी खो गई,
हम न सोए रात थक कर सो गई.,

 

ख्वाहिश चाहत से बढ़ गई तू इबादत हो गई हैं,
मेरी नींदों को भी तेरे सपनों की आदत हो गई हैं.,

 

वो आँखों में अरमान जगा दिया करते हैं,
फिर चुपके से नींद चुरा लिया करते हैं.,

 

दिल की किताब में गुलाब उनका था,
रात की नींद में ख्वाब उनका था,
कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा,
मर जायेंगे तुम्हारे बिना ये जबाब उनका था.,

 

नींद आये या ना आये,
चिराग बुझा दिया करो,
यूँ रात भर किसी का जलना,
हमसे देखा नहीं जाता.,

 

बस यही दो मसले जिन्दगी भर ना हल हुए,
ना नींद पूरी हुई, ना ख्वाब मुकम्मल हुए.,

 

नींद से क्या शिकवा जो रात आती नहीं रातभर,
कसूर तो उस चेहरे का है, जो सोने नही देता.,

 

मैं दिन हूँ, मेरी सहम तुम हो,
मैं नींद हूँ, मेरा ख्वाब तुम हो,
लब हो मेरी बात तुम हो,
मैं तब हूँ जब मेरे साथ तुम हो.,

 

मैंने इश्क़ किया है या कोई कसूर कर दिया है,
इन आँखों ने खुद से नींद को दूर कर दिया है.,

 

करवट में कत्ल नींद का इक बार कर के देख,
तू भी तो कभी मेरा इंतज़ार कर के देख.,

 

वो देखकर मुस्कुराते है और मेरे ख़्वाबों में भी आते है,
मगर उनके दिल में क्या है? यही नहीं बताते है.,

 

जो चैन से सोते है, उन्ही का चैन खोता है,
दिन भर मेहनत करने वाला ही चैन से सोता है.,

 

ऐसा लगा कि जिन्दगी से मुलाक़ात हो गई,
पर हकीकत में बचपन की नींद अब ख्व़ाब हो गई.,

 

raat ki shayari

 

ना नींद है आँखों में, ना ही कोई हसरत
कितना सादा सा रह गया हूँ मैं तेरे बगैर.,

 

नींद में भी गिरते है मेरी आँखों से आँसू,
जब तुम ख़्वाबों में मेरा हाथ छोड़ देते हो.,

 

मेरे ख़्वाबों का उसे कौन पता देता है,
नींद में आ के वो अक्सर ही जगा देता है.,

 

दोस्ती बुरी हो तो उसे होने मत दो,
अगर हो गयी तो उसे खोने मत दो,
और अगर दोस्त हो सबसे प्यारा,
तो उसे चैन की नींद सोने मत दो.,

 

भरी रहे अभी आँखों में उसके नाम की नींद,
वो ख्व़ाब है तो यूँ ही देखने से गुजरेगा.,

 

वो बेवफ़ा चार दिन की मोहब्बत दे गया,
और मेरी उम्र भर की रातों की नींद ले गया.,

 

Raat Ki Shayari

अब आइए आपको यह स्पेशल Raat Ki Shayari हम पढ़ाने जा रहे जिसे आप पढे भी और पढ़ने के बाद इसे आप शेयर भी करे क्योंकि यह Raat Shayari आपके दोस्तों को बहुत अधिक पसंद आएगी।

 

  तेरी याद नींदे आने नहीं देती,
तेरी फिक्र जान जाने नहीं देती.,
सब सो रहे होते है इस वक़त,
और हम लगाते है बेवजह गश्त.,

 

पलकों पे नींद को आ जाने दो,
सपनो को आँखों में सज जाने दो,
प्यार भरी गुज़रे आपकी ये रात,
ताकि कल हो सके फिर से आप से बात.,

 

नींद से वास्ता टूट गया,
जब से तेरा रास्ता छूट गया,
सारी रात जागकर गुज़ारता हू,
और तेरा नाम पुकारता हू.,

 

  नींद आँखों में आने लगी है,
रात की घटा छाने लगी है,
हर तरफ बह रही हवा,
कोई प्यारा-सा गीत गाने लगी है.,

 

  जबसे तुमने इकरार किया,
अपनी बाहों का प्यार दिया,
नींद मेरी उड़ने लगी है,
मोहब्बत परवा चढ़ने लगी है.,

 

 रातों को नींद नहीं आती,
बस तेरी याद है सताती,
तू हर जगह महसूस होती है,
हर समां दिल के करीब होती है.,

 

  आँखों के सहारे तुम दिल में उतरने लगे,
दिन और रात मेरे प्यार से सवरने लगे,
ख्याल भी मीठे-से आने लगे है,
जो मेरी नींद को चुराने लगे है.,

 

किसी हमदम का सर-ए-शाम ख़याल आ जाना,

नींद जलती हुई आँखों की उड़ा देता है.,

 

सुकून दे न सकीं राहतें ज़माने की,

जो नींद आई तेरे ग़म की छाँव में आई.,

 

 

हमें भी नींद आ जाएगी हम भी सो ही जाएँगे,

अभी कुछ बे-क़रारी है सितारो तुम तो सो जाओ.,

 

तेरी आँखों की कशिश कैसे तुझे समझाऊँ,

इन चराग़ों ने मेरी नींद उड़ा रक्खी है.,

 

ये सर्द रात ये आवारगी ये नींद का बोझ,

हम अपने शहर में होते तो घर चले जाते.,

 

उठो ये मंज़र-ए-शब-ताब देखने के लिए,

कि नींद शर्त नहीं ख़्वाब देखने के लिए.,

 

वो क्या गए कि नींद भी आँखों से ले गए,

यानी कि ख़्वाब में भी न आए तमाम रात.,

 

बरसों के रत-जगों की थकन खा गई मुझे,

सूरज निकल रहा था कि नींद आ गई मुझे.,

 

ज़रा सी रात ढल जाए तो शायद नींद आ जाए,

ज़रा सा दिल बहल जाए तो शायद नींद आ जाए.,

 

तुम्हें भी नींद सी आने लगी है थक गए हम भी,

चलो हम आज ये क़िस्सा अधूरा छोड़ देते हैं.,

 

जो भी कुछ अच्छा बुरा होना है जल्दी हो जाए,

शहर जागे या मेरी नींद ही गहरी हो जाए.,

 

मैं रोना चाहता हूँ, ख़ूब रोना चाहता हूँ मैं,

फिर उसके बाद गहरी नींद सोना चाहता हूँ मैं.,

 

नींद आती है अगर जलती हुई आँखों में,

कोई दीवाने की ज़ंजीर हिला देता है.,

 

कल जो मुझको नींद ना आये पास बुला लेना,

गोद में अपनी सर रख लेना, लोरी सुना देना.,

 

Conclusion

यही सभी Neend Shayari आप सभी को काफी पसंद आई होंगी अगर नहीं तो आप हमे कमेन्ट मे बताए हम अपने अगले पोस्ट व  Hindi Shayari मे कुछ अच्छा सुधार करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *