Rajputana Shayari – दोस्तों आप सभी तो जानते होगए की एक राजपूत कई 100 के बराबर होता और जब कोई राजपूत योद्धा जंग के मैदान मे उतरता तो उस समय बिपक्षियों के पास भागने के अलावा कोई भी उपाय नहीं होता आप सभी ने हमारे सभी वीर राजपूत जैसे महारण प्रताप, पृथ्वी सिंह राठौर, महाराज रंजीत सिंह आदि कई राजपूत वीरों ने इस धरती से जन्म लिए।

इस सभी राजपूत वीरों ने अपने धरती पर बुरी नजर रखने वाले सभी मुगलों के शासक का पूरी वंस के साथ खात्मा किया जिससे आज के समय मे ये सभी विदेशी शासक केवल किताबों मे एक कहानी मात्र रह गए वो फुफऊनदी खाते हुए और वही हमारे वीर राजपूत आज पूरे विश्व मे अपनी एक पहचान के साथ अमर हो गए।

आज के समय मे जीतने भी राज पूत भाई जिनमे उनके वांसज का गर्म खून है जो आज भी इस धरती की रक्षा के लिए आगे रहते वो सब के लिए हम यह कुछ स्पेशल Rajputana shayari पेश कर रहे जिसे आप अपने स्तताऊस के साथ लगा कर लोगों को एक राजपूत होने की असल पहचान करवा सकते है।

आइए अब पढे इन सभी Rajputana Shayari जो और इसे अपने परिवार व रिस्तेदारों व दोस्तों मे भी शेयर करे ताकि वह भी इन सभी Royal Rajputana Shayari का इस्तेमाल अपने पोस्ट मे कर सके।

 

Rajputana Shayari in Hindi

अब आइए आपको हम यह सभी स्पेशल Rajputana Shayari in Hindi पढ़ाने जा रहे जिसे आप पढे भी साथ मे आप इसे अपने दोस्तों मे शेयर भी करे जिसे आपको आपके दोस्तों और रिस्तेदारों को बहुत अधिक खुशी मिलेगी।

 

 

जब आँख खुले तो धरती राजपुताना की हो,
जब आँख बंद हो तो यादे राजपुताना की हो,
मैं मर भी जाऊ तो कोई गम नहीं,
लेकिन मरते वक्त मिटटी राजपुताना की हो.,

 

जात का हु रावणा राजपूत में,
ना राग द्वेष रखता हूं,
जे छेड़ गा तू मने तो,
चीर फाड के धर दूँगा.,

 

जब तक माथे पर लाल रंग नहीं लगता,
तब तक “रावणा राजपूत” किसी को तंग नहीं करता,
सर चढ़ जाती है ये दुनिया भूल जाती है.,

 

समज़ते है की पत्थर है हम,
उनको ठोकर मार जाएँगे ,
एक बार कह दे नफ़रत है हम से,
खुदा कसम पत्थर तो क्या.,

 

मैं झुक नहीं सकता,
मैं शौर्य का अखंड भाग हूँ,
जला दे जो दुश्मन की रूह तक,
मैं वही राजपूत की औलाद हूँ.,

 

Rajputana Shayari

 

शेर का मुखौटा लगाकर कोई शेर यहीं बनता,
भाला उठाकर कोई राणा प्रताप नहीं बनता,
रणभूमि में पता चलता है योद्धाओं का,
मूछों की मरोड़ी लगाने से कोई राजपूत नहीं बनता.,

 

जब हम सिंहासन पर बैठते हैं तो राजा कहलाते है,
हम घोङे पर सवार होते तो योध्दा कहलाते है,
जब हम किसी की जान बचाते है तो क्षत्रिय कहलाते है,
जब हम किसी को वचन देते है तो राजपुत कहलाते है.,

 

रखते हैं मूछों को ताव देकर,
यारी निभाते हैं जान देकर,
ख़ौफ़ खाती है दुनिया हमसे,
क्योंकि हम जीते हैं शेरों की दहाड़ लेकर.,

 

राजपूत हू मैं, राजपूतों का अभिमान हूँ,
संस्कारों में जीती हूं, और मर्यादा में रहती हूँ,
क्षत्राणी हूं मैं, महावीर क्षत्रियो की बान हूँ,
वीरांगना हूँ मैं, महान शूरवीरों की संतान हूँ,
क्षत्राणी हूं मैं, राजपूताने की शान हूँ.,

 

जिनके कुल में पैदा हुए पृथ्वीराज महान है,
भूल न जाना की हम उन पुरखो की संतान है,
राणा प्रताप और हठी हमीर सांगा का स्वाभिमान है,
कुम्भा भोज अमर सिंह और दुर्गा दास महान है,
भूल न जाना के हम उन सिंहो की संतान है.,

 

Raat Shayari

 

जब आँख खुले तो धरती राजपुताना की हो,
जब आँख बंद हो तो यादे राजपुताना की हो,
मैं मर भी जाऊ तो कोई गम नहीं लेकिन,
मरते वक्त मिटटी राजपुताना की हो.,

 

 जात का हु राजपूत में,
ना राग द्वेष रखता हूं,
जे छेड़ गा तू मने तो,
चीर फाड के धर दूँगा.,

 

शेर का मुखौटा लगाकर कोई शेर यहीं बनता,

भाला उठाकर कोई राणा प्रताप नहीं बनता,

रणभूमि में पता चलता है योद्धाओं का,

मूछों की मरोड़ी लगाने से कोई राजपूत नहीं बनता.,

 

कतरा कतरा चाहे बह जाये लहू बदन का,

कर्ज उतर दूंगा ये वादा आज मैं कर आया,

हँसते – हँसते खेल जाऊंगा प्राण रणभूमि में,

ये केसरिया वस्त्र मैं आज धारण कर आया.,

 

एक अलग सी पहचान बनाने की आदत है हमें,

ज़ख्म हो जितना गहरा उतना मुस्कुराने की आदत है हमें,

सब कुछ लूटा देते हैं दोस्ती मे,

क्युंकि दोस्ती निभाने की आदत है हमें.,

 

Rajputana Shayari

 

अन्य के लिए जो रक्त बहाये,

मातृभूमि का जो देशभक्त कहलाये,

गर्जन से शत्रु का तख़्त हिलाये,

असुरो से पृथ्वी को विरक्त कराये,

वही असली राजपूत कहलाये.,

 

शाम को शराब पीने का क्या फ़ायदा है,

शाम को पी सुबह उतर जायेगी,

दो बूँद हमारे राजपुताना की महफ़िल में पी लो यारों,

सारी जिंदगी नशे में गुज़र जायेगी.,

 

ना हम केसरिया रंग छोड़ सकते हैं,

ना ही जीने का ढंग छोड़ सकते है,

क्षत्रिय है हम न ‪Attitude ए दबंग छोड़ सकते है,

न ही ‪ जंग ए Rajputana छोड़ सकते है.,

 

दशहत बनाओ तो शेर जैसी वरना,

खाली डराना तो कुत्ते भी जानते है,

#राजपूत हो तो खूंखार होना चाहिये,

वरना खूबसूरत तो लड़िकयां भी होती है.,

 

बापू हाथ किसी का थामकर छोङते नहीँ,

वादा अगर किसी से करे तो तोङते नही,

अगर तोङ दे दिल कोई Bapu का,

तो बिना हाथ पैर तोङे छोङते नही.,

 

Kiss Day Shayari 

 

अपने Status में Attitude का ज़ोर है,
तभी तो चारों तरफ राजपूत के नाम का शोर है.,

 

कहानियां तो छोटे मोटे राजा लोगों की लिखी जाती है
हम तो #राजपूत है हमारा तो इतिहास लिखा जाएगा.,

 

बेशक पहनलो हमारे जैसे कपडे और ज़ेवर,
पर कहा से लाओगे राजपूतो वाले तेवर.,

 

तलवार बन्दूक से खेला करूं,
मुझे डर नहीं चौकी – थाने का,
मैं छाती ठोक के कहता हूँ,
मैं छोरा हूँ राजपूत घराने का.,

 

ग़रीब के क़र्ज़ जैसा है ये राजपुताना इश्क़ भी,
एक बार सिर चढ़ जाए तो उतरता ही नहीं.,

 

Rajputana Shayari

 

हमारे जीने का तरीका थोड़ा अलग है,
हम उमीद पर नहीं अपनी जिद पर जीते है.,

 

हथियार न दिखाना हमको गलती से भी,
शदियों से हथियार ठाकुरो के वफादार रहे है.,

 

न राजपूत गिरा न राजपूत के हथियार गिरे,
पर राजपूतो को गिराणे मे लोग कई बार गिरे.,

 

हमारा शौंक तो तलवार रखने का है,
बन्दूक के लिए तो बच्चे भी ज़िद करते है.,

 

हम राजपूत है हमें दोस्तों को जज़्बात दिखाना आता है,
और दुश्मनो को उनकी औकात दिखाना आता है.,

 

Royal Rajputana shayari

दोस्तों आपको तो पता होगा की राजपूत अपनी रॉयल शनोसौख्यत के लिए पूरे विश्व मे प्रसिद्ध है इस लिए आज हम आपको कुछ स्पेशल Royal Rajputana Shayari पढ़ाने के लिए पेस करेंगे जो आपको बहुत ही आधी पसंद आएगी।

 

 

शांत हम शमन्दर जैसे गुस्सा हमारा सुनामी है,
इसी तेवर के चक्कर में , दुनिया हमारी दीवानी है.,

 

राजपूत है हम, मौत भी पीछे से धोखा देकर आती है हमें,
दुश्मन की क्या औकात जो सामने से वार करे.,

 

जात का हु राजपूत में,
ना राग द्वेष रखता हूं,
जे छेड़ गा तू मने तो,
चीर फाड के धर दूँगा.,

 

इतिहास गवाह है कि नेताओं की कुर्सी जनता ने बनाई,
मगर राजपूतों की राजगद्दी उनकी वीरता ने बनाई.,

 

जिस शहर में तुम्हें मकान कम और शमशान ज्यादा मिलें,
समझ लेना वहां किसी ने राजपूत से आँख मिलाने की जुर्रत की है.,

 

Rajputana Shayari

 

हम बदलते है तो निज़ाम बदल जाते है,
सारे मंज़र सारे अंजाम बदल जाते है,
कौन कहता है राजपूत फिर से पैदा नहीं होते,
पैदा होते है बस नाम बदल जाते हैं.,

 

राजपूत हूं राजपूती शान रखता हूं और,
दुश्मनों के लिये मयान में तलवार रखता हूं.,

 

वीरों की दहाड़ होगी, #राजपूतों की ललकार होगी,
आ रहा है वक़्त, जब फिर क्षत्रियों की भरमार होगी.,

 

गुंन्डागर्दी और नेतागिरी हर कोई कर सकता है,
बन्नागिरी का ठेका तो हम राजपूतो के पास है.,

 

बात जब अपने स्वाभिमान की हो,
और राजपूताना के सम्मान की हो,
तो फिर पीछे हटते नही हम,

चाहे बाजी फिर अपनी जान की हो.,

 

बाप के सामने अयाशी और राजपूत,

के समने बदमाशी,बेटा भूल कर भी,

मत करिओ.वरना बेटा हम वो,

#राजपूत है जो गार्डन परसाद,

में बाँट दिया करता है.,

 

जंग खाई तलवार से युद्ध नहीं लड़े जाते,
लंगड़े घोड़े पर दांव नहीं लगाये जाते,
यूं तो लाखों वीर होते है पर सब,

महाराणा प्रताप नहीं होते.,

 

मैं झुक नहीं सकता मैं शौर्य का अखंड,

भाग हूँ,जला दे जो दुश्मन की,

रूह तक मैं वही राजपूत की औलाद हूँ.,

 

राजपुत को जंजीरो में कैद करने का,

सपना मत देख.क्युंकि हम वो आदमखोर,

शेर हैं, जिसका भी शिकार करतें हैं,

उसका जिस्म तो क्या रूह भी दम तोड देती हैं.,

 

पगड़ी हमारी आन-बान और शान होती है,

जो भी इसकी तरफ देखेगा उसका,

नामोनिशान नहीं होगा.,

 

 

जिस शहर में तुम्हें मकान कम और शमशान,

ज्यादा मिलें समझ लेना वहां किसी ने राजपूत,

से आँख मिलाने की जुर्रत की है.,

 

राजपूत से दोस्ती कर लो तो जन्नत,

मिल जाएगी मगर दुश्मनी की तो,

छिपने के लिए पूरी दुनिया कम पड जाएगी.,

 

हमारी रगों में वो खून दौड़ता है,

जिसकी एक बूंद अगर तेजाब,

पर गिर जाए तो तेजाब जल जाये.,

 

पहचान की जरूरत उन्हें होती है,

जिनकी कोई शान नहीं होती,

हम राजपूत है हमारा तो नाम ही काफी है.,

 

चिंता को तलवार की नोक पर रखे वो राजपूत,

रेत की नाव लेकर समंदर से शर्त लगाए वो,

राजपूत और जिसका सर कटे फिर भीधड़,

दुश्मन से लड़ता रहे व.,

 

 

वीरों की दहाड़ होगी, #राजपूतों की ललकार होगी,

आ रहा है वक़्त, जब फिर क्षत्रियों की भरमार होगी.,

 

अपने Status में Attitude का ज़ोर है,

तभी तो चारों तरफ राजपूत के नाम का शोर है.,

 

राजपूत है हम, मौत भी पीछे से धोखा,

 देकर आती है हमें, तो दुश्मन की तो,

औकात कि क्या जो सामने से वार करें.,

 

रखते है मूछों को ताव देकर यारी निभाते है,

जान देकर खौफ कहती है दुनिया हमसे,

क्युकी हम जीते है शेरों की दहाड़ लेकर.,

 

वो पगली बोली तू स्माइल नहीं करता क्या,

में बोलै अरे पगली जब ठाकुर की स्टाइल,

देखकर ही लड़कियां बेहोश हो जाती है,

अगर स्माइल दूंगा तो मर ही जाएँगी #ठाकुर.,

 

सब से सब से दिलदार और दमदार है राजपूत रण,

भूमि में तेज़ तलवार है राजपूत पता नहीं कितनो की,

जान है #राजपूत सच्चे प्यार पर कुर्बान है.,

 

लगा के आग दौलत में हमने ये शोक पाला है,
कोई पूछे तो कह देना हम राजपुताना वाले है,
जय राजपुताना.,

 

Conclusion

यही सभी Rajputana Shayari आप सभी को काफी पसंद आई होंगी अगर नहीं तो आप हमे कमेन्ट मे बताए हम अपने अगले पोस्ट व  Hindi Shayari मे कुछ अच्छा सुधार करेंगे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.